Saturday, July 4th, 2020
Close X

पेट फूलने या अफरने की समस्या से निपटने के घरेलू तरीके...

 

गर्मी के मौसम में अक्सर पेट अफरने की समस्या लोगों को परेशान करती है। इसकी खास वजह है कि इस मौसम में हमारे शरीर को अधिक लिक्विड की जरूरत होती है, हमारे मुंह में सूखापन जल्द हो जाता है और हम बार-बार कुछ ना कुछ लिक्विड लेते रहते हैं। यह एक अच्छी बात भी है। लेकिन यह आदत दिक्कत पैदा कर सकती है अगर हम सिर्फ और सिर्फ लिक्विड पर ही निर्भर हो जाते हैं और हेल्दी-हेवी फूड के स्थान पर भी लिक्विड लेना ही पसंद करते हैं...

क्या होता है पेट अफरना?
-पेट का गुब्बारे की तरह फूला हुआ महसूस होना, पेट में भारीपन बने रहना। इस कारण उठने-बैठने में दिक्कत होना और लगातार असहज कर देनेवाली स्थिति रहना पेट अफरने के लक्षण होते हैं।

-ऐसी स्थिति आमतौर पर तब बनती है, जब पाचनतंत्र ठीक से काम नहीं कर पाता है। या फिर पेट में लगातार बन रही गैस पास नहीं हो पाती है।

इस स्थिति में क्या करना चाहिए?
-पेट अफरना पाचन से जुड़ी समस्या है तो सबसे पहले तो आपको अपने खाने-पीने के आदतों में सुधार करना चाहिए। इस बात का पूरा ध्यान रखना चाहिए कि खाना खाने के साथ पानी या लिक्विड नहीं लेना है।

-जो लोग खाना खाने के साथ ही पानी अधिक पीते हैं या खाना खाने के तुरंत बाद ढेर सारा पानी पीते हैं, ऐसे लोगों का पाचनतंत्र अक्सर गड़बड़ रहता है। इसलिए खाने के कम से कम 20 से 30 मिनट के बाद ही पानी पीना चाहिए।

पेट में गैस बनना या पेट अफरना

-अगर कभी बहुत तेज प्यास लगी हो तो एक-दो घूंट पानी पी सकते हैं। पेट अफरने की समस्या होने पर आप 1/4 स्पून अजवाइन सीड्स लेकर उन्हें चबाकर खाएं या पानी से निगल लें। मात्र 10 से 15 मिनट बाद आपको राहत महसूस होगी।

-आप पुदीना 4 से 5 पत्तियां लेकर उन्हें काले नमक के साथ खा सकते हैं। कुछ ही देर में आपको राहत का अनुभव होगा। ध्यान रखें आपको अपनी दिनचर्या और खान-पान में भी सुधार करना है।

-आप वज्रासन में बैठ जाएं और हर दिन खाना-खाने के बाद वज्रासन अवश्य करें। इससे आपको अपच और गैस की समस्या से राहत पाने में सहायता मिलेगी। लेकिन ध्यान रखें कि ऐसा आपको लंबे समय तक करना है।

-अगर इन घरेलू नुस्खों से आपको आराम नहीं मिल रहा है तो आप डॉक्टर से संपर्क करें। क्योंकि आपकी इस समस्या की वजह कोलन, यूट्रस और हेपेटाइटिस से भी जुड़ी हो सकती है। ध्यान रखें कि डकार आना और गैस पास होना दो प्राकृतिक प्रक्रियाएं हैं, जो हेल्दी डायजेस्टिव सिस्टम के लिए भी जरूरी हैं। अगर आपको गैस और डकार बहुत अधिक आ रही हो या बिल्कुल ना आ रही हो तब भी डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

Source : Agency

आपकी राय

5 + 13 =

पाठको की राय