Tuesday, August 11th, 2020
Close X

साली से शादी करने के लिए गर्भवती पत्नी की हत्या

पटना 
साली से शादी और दो बेटियों के बाद बेटे की चाहत में लौंड्री चलाने वाले शंभू रजक ने ढाई लाख की सुपारी देकर गर्भवती पत्नी रूबी देवी (32) की हत्या करा दी और साजिश के तहत मामले को रोडरेज का रूप दे दिया। गोपालपुर स्थित चैनपुर गांव में गुरुवार को हुई महिला की हत्या की पुलिस ने छानबीन की तो पूरा मामला ही पलट गया। 

एसपी सिटी पूर्वी जितेंद्र कुमार के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम ने पति शंभू के साथ जक्कनपुर के दो कांट्रैक्ट किलर ऋषि कुमार और नवीन को गिरफ्तार कर लिया है। अपराधियों के पास से बाइक व हथियार मिले हैं। पुलिस के मुताबिक, शंभू ने बताया कि वह साली से शादी करना चाहता था, क्योंकि उसे लगता था कि रूबी अब बेटे की मां नहीं बन सकती। उसकी पत्नी मंदबुद्धि थी। इस कारण वह उससे दूरी बनाना चाहता था। परिजनों से पूछताछ में पता चला था कि शंभू साली से रोज घंटों बात करता था। पुलिस ने साली से भी पूछताछ की है। अभी यह पता नहीं चला है कि साली को घटना के बारे में जानकारी थी या नहीं। 

गर्भवती थी पत्नी
परसा के झाईंचक निवासी शंभू रजक गुरुवार को पत्नी गर्भवती रूबी देवी और बेटी पीहू व परी के साथ लोहानीपुर स्थित ससुराल से घर लौट रहा था तभी बाइक सवार अपराधियों ने गोली चलायी। गोली लगने से रूबी की मौत हो गई। शंभू ने पुलिस को बताया कि रोडरेज में उसका झगड़ा जगनपुरा के पास बाइक सवार बदमाशों से हुई थी। इसके बाद चार किमी तक पीछा कर बाइक सवारों ने गोली चलाई, जो उसकी पत्नी को जा लगी। बदमाश रूबी का पर्स भी लेकर भाग गए।

लोन लेकर नौ माह पहले दी थी सुपारी, ढाई लाख में सौदा हुआ था पक्का
नौ माह पहले यानी पिछले साल अक्टूबर में ही शंभू ने ऋषि को पत्नी की हत्या करने के लिए ढाई लाख की सुपारी दी थी। 50 हजार रुपये एडवांस देने के लिए शंभू ने बाकायदा 30 हजार रुपये लोन लिया, फिर 20 हजार मिलाकर कांट्रैक्ट किलर को दिया। उस वक्त हत्या की तारीख तय नहीं हो पायी थी। एसपी सिटी ने बताया कि सिपारा में लौंड्री चलाने वाले शंभू की मुलाकात उसी जगहाषि से हुई थी। वह कांट्रैक्ट किलरों से हमेशा आमने-सामने ही बात करता था। घटना के दो दिन पहले यानी बीते मंगलवार से ही शंभू ने अपना मोबाइल बंद कर लिया था।

सीसीटीवी फुटेज से खुला पूरा मामला
एसपी सिटी ने बताया कि पुलिस टीम मौके पर जांच करने पहुंची तो मामला संदेहास्पद लगा। शंभू ने पुलिस को बताया था कि नीले रंग की बाइक सवार दो लोगों से उसका विवाद हुआ था। पीछे बैठे शख्स ने उसे गोली मारने की धमकी दी थी, लेकिन बाइक चलाने वाले ने उसे आगे बढ़ जाने की सलाह दी। इसके बाद उन्हीं लोगों ने 4 किमी तक पीछा कर उस पर गोली चलाई, जो उसकी  पत्नी को जा लगी। इधर, पुलिस ने रास्ते में लगे करीब दर्जनभर कैमरों को खंगाला तो कहीं भी शंभू के साथ किसी का झगड़ा होते फुटेज नहीं दिखा। इसके बाद पुलिस का शक और पुख्ता हो गय। पूछताछ के दौरान शंभू घबरा गया और बार-बार बयान बदलने लगा। इसके बाद पुलिस ने उसे सीसीटीवी फुटेज भी दिखाया। सच सामने आता देख शंभू जुर्म कबूल कर लिया। 

स्पीडी ट्रायल करवायेगी पुलिस 
एसपी सिटी पूर्वी ने कहा है कि मामले का स्पीडी ट्रायल कराया जाएगा। पुलिस के पास कई सबूत हैं। केस के अनुसंधानकर्ता को आवश्यक निर्देश दिये गए हैं।   

बेटियों के सामने ही कराई हत्या
पत्थर दिल पिता ने दो मासूम बेटियों के सामने ही उनकी मां को मौत के घाट उतरवा दिया। उस वक्त उसे न तो अपनी पत्नी और न ही दोनों मासूमों पर रहम आया। गोली कांट्रैक्ट किलर ऋषि ने चलायी। पत्नी की हत्या होने के बाद शंभू नाटक करने लगा। उसकी दोनों बेटियां सिहर गयीं। 

Source : Agency

आपकी राय

4 + 2 =

पाठको की राय