Saturday, August 8th, 2020
Close X

फरीदाबादा से भागकर पहुंचे ग्वालियर मोस्टवांटेड विकास गैंग के दो मददगार गिरफ्तार

ग्वालियर
पुलिस एनकाउंटर में मारे गए मोस्ट वांटेड विकास दुबे की गैंग के दो मददगारों को ग्वालियर से पकड़ा है। पकड़े गए दोनों युवक ग्वालियर के रहने वाले हैं। दोनों के खिलाफ यूपी के चौबेपुर में अपराधी को पनाह देने का मामला दर्ज किया गया है। देश भर को हिला देने वाले बिकरु कांड के आरोपियों को ग्वालियर में पनाह देने का मामला सामने आया है।

बिकरु कांड में आठ पुलिस अफसरों व कर्मचारी की कुख्यात बदमाश विकास दुबे ने गोलियों से भूनकर हत्या कर दी थी। वारदात के बाद सभी आरोपी फरार हो गए थे। इन आरोपियों में शशिकांत पांडे उर्फ सोनू व शिवम दुबे भी शामिल रहे। ये दोनों वारदात के बाद से फरार होकर ग्वालियर आए थे। संदेह के आधार पर यूपी एसटीएफ ने तीन दिन पहले ग्वालियर में रेड की थी।

इस दौरान पुलिस को दोनों आरोपी तो नहीं मिले। जबकि उन्हें पनाह देने वाले ओमप्रकाश पांडे पुत्र स्व. छोटलाल पांडे निवासी भगत सिंह नगर गोले का मंदिर थाना व अनिल पांडे पुत्र चंद्रप्रकाश पांडे निवासी सागरताल सरकारी मल्टी को गिरफ्तार कर लिया। इन दोनों ने ही फरार आरोपियों को अपने घर में पनाह दी थी। दोनों के खिलाफ यूपी के चौबेपुर थाने में धारा 216 के तहत अपराध दर्ज कर लिया है। दोनों को पुलिस ने जेल भेज दिया है।

पुलिस ने बिकरु कांड में टोटोल 60 लोगों को आरोपी बनाया है। इनमें ज्ञात व अज्ञात आरोपी शामिल हैं। इन साठ लोगों में ओमप्रकाश पांडे और अनिल पांडे को भी नामजद किया गया है। बताया गया कि इन्हे तीन दिन पहले ग्वालियर से राउंडअप किया गया था। इन्हे एसआई अजहर इसर, हवलदार संजय, आरक्षक प्रकाश और चंदन की टीम ने राउंडअप किया था।

पुलिस को मिली जानकारी के अनुसार विकास की गैंग फरीदाबाद में एक साथ थी। इसके बाद ये सब अलग अलग हो गये थे। विकास जहां सीधे उज्जैन पहुंचा था। वहीं ओमप्रकाश और शिवम ग्वालियर में ठहर रुक गए थे।

फरीदाबाद में धरे गए कार्तिकेय, श्रवण व अंकुर
एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि हरियाणा पुलिस ने फरीदाबाद में मुठभेड़ के दौरान गैंगस्टर विकास दुबे के साथी कार्तिकेय उर्फ प्रभात, अंकुर और उसके पिता श्रवण को गिरफ्तार किया है। उनके पास से गत दो-तीन जुलाई की रात कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद उनसे लूटी गई पिस्टल मिली है। इसके अलावा दो अन्य पिस्टल और 44 कारतूस भी बरामद किए गए हैं। उन्होंने बताया कि मंगलवार की रात 50 हजार रुपये का एक अन्य नामजद अपराधी श्यामू बाजपेयी भी गिरफ्तार किया गया है। साथ ही मामले के एक अन्य अभियुक्त जहान यादव तथा उसके साथी संजीव दुबे को कानपुर नगर की पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

Source : Agency

आपकी राय

5 + 5 =

पाठको की राय