Saturday, August 8th, 2020
Close X

हॉर्स ट्रेडिंग में कांग्रेस की गुटबाजी पर गहलोत ने कहा- कौन नहीं बनना चाहता मुख्यमंत्री!

जयपुर
राजस्थान की कांग्रेस सरकार को गिराने की साजिश के खुलासे और एसओजी की ओर से केस दर्ज करने के बाद शनिवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत प्रेस वार्ता बुलाई। उन्होंने कहा है कि अगला चुनाव कांग्रेस जीतेगी और जनता इस साजिश का बीजेपी (bjp) काे सबक सिखाएगी। प्रेस वार्ता में हॉर्स ट्रेडिंग के पीछे डिप्टी सीएम के सीएम बनने के लिए साजिश के सवाल और कांग्रेस में गुटबाजी के सवाल पर मुख्यमंत्री गहलोत ने चुटकी लेते हुए कहा कि, 'मुख्यमंत्री कौन नहीं बनना चाहता?' हालांकि बाद में उन्हों कहा कि ऐसा बिल्कुल नहीं है।

एसओजी ने बयान के लिए सीएम और डिप्टी सीएम को बुलाया
विधायकों को प्रलोभन देकर राज्य की निर्वाचित कांग्रेस सरकार को अस्थिर करने के प्रयास के आरोपों पर राजस्थान पुलिस के विशेष कार्यबल (SOG) ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट और सरकार के मुख्य सचेतक महेश जोशी को बयान देने के लिए बुलाया है।

शुक्रवार को एसओजी ने दर्ज किया है मामला
एसओजी ने इस बारे में दो मोबाइल नंबरों की निगरानी से सामने आये तथ्यों के आधार पर राज्य में विधायकों की खरीद फरोख्त और निर्वाचित सरकार को अस्थिर करने के आरोपों में शुक्रवार को एक मामला दर्ज किया। एसओजी अधिकारियों के अनुसार इन नंबरों पर हुई बातचीत से ऐसा प्रतीत होता है कि राज्य सरकार को गिराने के लिए सत्तारूढ़ पार्टी के विधायकों को प्रलोभन दिया जा रहा है। गत 19 जून को राज्य से राज्यसभा की तीन सीटों के लिए चुनाव से पहले सत्तारूढ़ कांग्रेस ने कुछ विधायकों को प्रलोभन दिए जाने का आरोप लगाया था। पार्टी की ओर से इसकी शिकायत विशेष कार्यबल (एसओजी) को की गयी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा था कि राज्य में विधायकों को प्रलोभन दिया जा रहा है और करोड़ों रुपये की नकदी जयपुर स्थानांतरित हो रही है। राज्य विधानसभा में कुल 200 विधायकों में से कांग्रेस के पास 107 विधायक और भाजपा के पास 72 विधायक हैं। राज्य के 13 में से 12 निर्दलीय विधायकों का समर्थन भी कांग्रेस को है।
 

Source : Agency

आपकी राय

14 + 13 =

पाठको की राय