बिहारः तीसरी लड़की से सगाई से पहले लेखा सहायक हुआ गिरफ्तार

लखीसराय
शादी का लड्डू हमेशा मीठा नहीं होता। लखीसराय से बेगूसराय पुलिस ने एक ऐसे सरकारी सेवक को गिरफ्तार किया है जो बार बार शादी कर दहेज की वसूली करता था और पत्नी को घर से भगा देता था। दो शादी करके आरोपी लगभग एक करोड़ का दहेज वसूल चुका था। लेकिन तीसरी लड़की को अपने जाल में फंसाने से पहले वह जेल चला गया। मंगलवार को बेगूसराय की बलिया थाना पुलिस ने योजना विभाग के लेखा सहायक रुपेश कुमार को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के बाद रहस्य से एक एक कर पर्दा उठ गया।

लखीसराय योजना विभाग में लेखा सहायक था राजेश
रूपेश की एक बीबी ने दहेज में मोटी रकम वसूलने और प्रताड़ित कर छोड़ देने का आरोप लगाया है। राजेश लखीसराय योजना विभाग में लेखा सहायक के पद पर कार्यरत था। गिरफ्तारी के बाद बलिया थाना पुलिस उसे अपने साथ ले गई। रूपेश पर बीते 5 सालों में एक लड़की से सगाई तथा दो से शादी कर अकूत संपत्ति दहेज के रूप में वसूलने का आरोप है।  रूपेश के इस कारनामे को लेकर लड़की के परिवार वालों के द्वारा दो अलग-अलग जगहों पर तीन मामले दर्ज कराए गए हैं। पुलिस ने जब मामले की तहकीकात की तो उसकी करतूत सामने आने लगी। सारण जिले में पीड़ित पत्नियों के द्वारा लड़के के परिवार वालों पर दहेज प्रताड़ना के दो मुकदमे, जबकि बेगूसराय के बलिया में एक मुकदमा दर्ज कराया गया है। बलिया में दर्ज मामले में रूपेश कुमार के साथ ही उसके पिता सर्वेश्वर कुमार शर्मा और मां सुधा कुमारी की गिरफ्तारी का आदेश भी जारी हो चुका था। इसी मामले में पुलिस ने रूपेश को गिरफ्तार किया है।

42 लाख दहेज लेकर सारण की लड़की से रूपेश ने की थी शादी
एक पीड़िता का कहना था कि रूपेश कुमार का पूरा परिवार शादी के नाम पर ठगी करने का संगठित गिरोह चला रहा था। पीड़िता का कहना है कि उसकी शादी सारन जिला के सोनपुर थाना क्षेत्र के सबलपुर भवन टोली बृजवासी सर्वेश्वर कुमार शर्मा के पुत्र रूपेश कुमार से हुई थी। उनके परिजनों ने नकद 30 लाख रुपए एकमुश्त ससुर और सास के खाते में जमा कराया था। 12 लाख का जेवर और अन्य सामान समेत कार भी दिए थे। इसके बावजूद शादी के कुछ दिनों बाद ही दहेज के लिए प्रताड़ना का दौर शुरू हो गया।

बेगूसराय की लड़की वालों को इंस्पेक्टर बताकर 18 लाख नगद
वहीं बेगूसराय के बछवाड़ा में जिस युवती से शादी की गई थी, उससे शादी करने के पूर्व युवक ने खुद को सब इंस्पेक्टर बताया। शादी के दौरान 18 लाख रुपए एवं जेवर भी लिए। दोनों की कोर्ट मैरिज हुई थी। शादी के कुछ दिनों बाद दहेज के लिए पुन: प्रताड़ित किया जाने लगा और न दे पाने की स्थिति में मारपीट कर  भगा दिया। अब रूपेश एक तीसरी लड़की से शादी करने की तैयारी में था। जल्द ही उसकी सगाई होने वाली थी। लेकिन यह बात खुल गई। सच्चाई सामने आने पर रूपेश की दोनों पत्नियों ने अलग अलग थाने में केस दर्ज कराया। इसी के आधार पर बेगूसराय की बलिया थाना पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

Related Articles

Back to top button