चीन में विस्तार करेगा OYO Hotels, जुटाएगा 7 हजार करोड़ रुपए

 बिजनेस डेस्क
भारत की सबसे बड़ी होटल श्रृंखला ओयो होटल्स चीन और दुनिया के दूसरे हिस्सों में पैठ जमाने के लिए 1 अरब डॉलर (लगभग 7 हजार करोड़ रुपए) जुटाने जा रहा है। कंपनी ने कहा कि उसके सॉफ्टबैंक विजन फंड, सिक्वोया कैपिटल लाइस्पीड्स वेंचर पार्टनर्स सहित उसके मौजूदा निवेशकों ने 80 करोड़ डॉलर, जबकि अन्य ने 20 करोड़ डॉलर के निवेश की प्रतिबद्धता जाहिर की है।

5 अरब डॉलर हो जाएगी कंपनी की वैल्यू
ओयो इस फंड में से 60 करोड़ डॉलर चीन में निवेश करेगी, जहां कंपनी ने महज 10 महीने पहले ही ऑपरेशन शुरू किया है। एक सूत्र ने कहा कि इस निवेश के साथ कंपनी की फंडिंग वैल्यू 5 अरब डॉलर तक पहुंच जाएगी। ओयो के संस्थापक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी रितेश अग्रवाल ने कहा कि पिछले 12 माह में हमने पांच देशों भारत, चीन, मलेशिया और नेपाल तथा हाल में ब्रिटेन में अपनी पहुंच बढ़ाई है। उन्होंने कहा कि इस अतिरिक्त फाइनेंस के जरिये हम इन देशों में अपना कारोबार तेजी से बढ़ाएंगे जबकि प्रौद्योगिकी और प्रतिभा में निवेश करते रहेंगे।

18 साल की उम्र में शुरू की कंपनी
18 साल की उम्र में अग्रवाल ने ओरेवल स्टे प्राइवेट लिमिटेड कंपनी की शुरुआत की। यह कंपनी होटलों के ठहरने के किराए को कम करके लोगों को आधे दाम में कमरा दिलवाती थी लेकिन रितेश को इससे भी संतोष नहीं था। उनका कहना था की लोग रुक जाते है, लेकिन उन्हें बाकी सुविधाएं नहीं मिलती हैं। साथ ही, गेस्ट एन्जॉय भी नहीं कर पाते हैं। इसीलिए कुछ बड़ा करने के विचार से रितेश ने साल 2013 में इस कंपनी का नाम बदलकर ओयो रूम्स कर दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button