अडानी की कंपनी का IPO एशिया में सबसे बढ़िया रहा, बिकवाली के दौर में भी लोग हुए मालामाल

नई दिल्ली
भारत समेत दुनियाभर के शेयर बाजारों में बिकवाली का माहौल है। इस माहौल के बीच लॉन्च हुए अधिकतर प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) की खराब परफॉर्मेंस रही लेकिन अरबपति गौतम अडानी की कंपनी अडानी विल्मर ने तगड़ा रिटर्न दिया।  इस साल रिटर्न के लिहाज से अडानी विल्मर का आईपीओ एशिया में सबसे बढ़िया साबित हुआ है। अडानी विल्मर ने यह सफलता 100 मिलियन डॉलर से अधिक की 121 एशियाई आईपीओ को पीछे छोड़ कर हासिल की है। आपको बता दें कि यह अडानी समूह की 7वीं कंपनी है जो शेयर बाजार में लिस्टेड हुई है।

कितना है शेयर भाव
अडानी विल्मर लिमिटेड का शेयर भाव अपनी शुरुआत के बाद से लगभग तीन गुना बढ़ चुका है। अडानी विल्मर का आईपीओ 27 जनवरी 2022 को लॉन्च हुआ था और इसके शेयरों की लिस्टिंग 8 फरवरी 2022 को हुई थी। कंपनी का इश्यू प्राइस 218 – 230 रुपये रखा गया था। वहीं, 28 अप्रैल को अडानी विल्मर का शेयर 878 रुपये के स्तर तक गया था, जो अब तक का हाई लेवल है।

कंपनी के बारे में
अडानी विल्मर गौतम अडानी और सिंगापुर की विल्मर इंटरनेशनल लिमिटेड की ज्वाइंट वेंचर है। अडानी विल्मर का चर्चित ब्रांड फॉर्च्यून है। इस ब्रांड के तहत खाना पकाने के तेल, गेहूं का आटा, चावल, दाल, चीनी और अन्य खाद्य पदार्थों का उत्पादन किया जाता है।

अडानी की दौलत भी बढ़ी
दुनिया के छठे सबसे अमीर व्यक्ति गौतम अडानी ने 2022 में अपनी संपत्ति में लगभग 30 बिलियन डॉलर की वृद्धि की है, जो किसी भी अन्य अरबपति से अधिक है। उनकी कुल संपत्ति 106 बिलियन डॉल है, जो टेस्ला के सीईओ एलन मस्क के आधे से भी कम है। हालांकि, यह मुकेश अंबानी की तुलना में 10 बिलियन डॉलर अधिक है। ब्लूमबर्ग न्यूज के मुताबिक, अडानी ने पिछले साल 32 अधिग्रहणों पर 17 अरब डॉलर खर्च किए हैं। हाल ही में अडानी ने कोहिनूर कुकिंग ब्रांड सहित कई ब्रांडों की खरीद की घोषणा की है।  

 

Related Articles

Back to top button