टाटा की इस कंपनी के शेयर के मिल ही गए खरीदार, निवेशक हो रहे थे कंगाल, अरसे बाद लगा अपर सर्किट

नई दिल्ली

पिछले कई दिनों से निवेशकों को कंगाल कर रहे टाटा ग्रुप की कंपनी टीटीएमएल के शेयरों के आज खरीदार मिल ही गए। शेयर बाजार में बंपर उछाल के बीच टीटीएमएल में अरसे बाद आज अपर सर्किट लगा है। बता दें पिछले कई सत्रों से लग रहे लोअर सर्किट के कारण यह स्टॉक अपने ऑल टाइम हाई  290.15 रुपये से करीब 192 रुपये टूटकर 100 रुपये के नीचे आ गया था। आज अपर सर्किट के बावजूद एनएसई पर 98.20 रुपये पर था।

इतनी गिरावट के बावजूद इस टेलीकॉम शेयर ने पिछले 6 महीने में 172 फीसद का रिटर्न दिया है। बाजार की गिरावट के बजाय कंपनी के तिमाही परिणाम के बाद इसमें नुकासान जारी है। पिछले 1 महीने में यह अपने निवेशकों को 42.84 फीसद का नुकसान करा चुका है। अगर इस साल की बात करें तो यह अबतक 54.67 फीसद तक टूट चुका है। हालांकि एक साल पहले जिसने भी इसमें पैसा लगाकर रखा है, वह अभी 609 फीसद के मुनाफे में है। 4 मार्च 2021 को टीटीएमएल के शेयर का मूल्य 14.60 रुपये का था। बता दें जब से कंपनी को दिसंबर 2021 को समाप्त तीसरी तिमाही में 302 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा होने की खबर आने के बाद से ही इसमें हर रोज लोअर सर्किट लग रहा था।  एक साल पहले की तिमाही में 298 करोड़ का नुकसान हुआ था।  बता दें 11 जनवरी को टीटीएमएल का शेयर अपने ऑल टाइम हाई 290.15 रुपये पर बंद हुआ था।

ऐसा क्या हुआ कि अचानक चढ़ने के बाद गिरने लगा भाव
दरअसल टाटा टेलीसर्विसेज लि. (टीटीएसएल) ने समयोजित सकल राजस्व (एजीआर) बकाये से संबंधित ब्याज को इक्विटी में बदलने की योजना रद्द कर दी है। बीते दिनों टाटा टेलीसर्विसेज ने सरकार को चुकाए जाने वाले 850 करोड़ रुपये के ब्याज बकाया को इक्विटी में बदलने का फैसला किया था, जो कंपनी में 9.5 प्रतिशत हिस्सेदारी के बराबर है। हालांकि, अब कंपनी ने इस योजना को रद्द कर दिया है। इसके बाद से टीटीएमएल में रोज अपर सर्किट लग रहे थे। इस कपंनी का परिणाम आने के बाद एक बार फिर लोअर सर्किट का दौर शुरू हो गया था।

क्या करती है टीटीएमएल?
बता दें टीटीएमएल, टाटा टेलीसर्विसेज की सब्सिडियरी कंपनी है। यह कंपनी अपने सेगमेंट में मार्केट लीडर है। कंपनी वॉइस, डेटा सर्विसेज देती है। कंपनी के ग्राहकों की लिस्ट में कई बड़े नाम है। मार्केट एक्सपर्ट्स के मुताबिक बीते महीने कंपनी ने स्मार्ट इंटरनेट बेस्ड सर्विस कंपनियों के लिए शुरू की है। इसे जबरदस्त रिस्पॉन्स मिल रहा है, क्योंकि इसमें कंपनियों को फास्ट इंटरनेट के साथ क्लाउड बेस्ड सिक्योरिटी सर्विसेज और ऑप्टोमाइज्ड कंट्रोल मिल रहा है। इसकी सबसे बड़ी खासियत क्लाउड आधारित सिक्योरिटी है जिससे डेटा को सुरक्षित रखा जा सकेगा। जो बिजनेस डिजिटल आधार पर चल रहे हैं, उन्हें इस लीज लाइन से बहुत मदद मिलेगी। इसमें हर तरह के साइबर फ्रॉड से सुरक्षा का इंतजाम इन-बिल्ट किया गया है, साथ में फास्ट इंटरनेट की सुविधा दी जा रही है।

Related Articles

Back to top button