विदेशी बाजारों में गिरावट से घरेलू खाद्य तेलों की कीमतों में आई नरमी

नई दिल्ली

विदेशी बाजारों में दर्ज की गई गिरावट की वजह से दिल्ली तेल-तिलहन बाजार में शनिवार को घरेलू खाद्य तेलों की कीमतों में कमजोरी देखी गई जबकि तिलहन के भाव में नरमी दर्ज की गई। तेल-तिलहन कारोबार से जुड़े सूत्रों ने बताया कि शुक्रवार को शिकॉगो एक्सचेंज में दर्ज की गई करीब पांच फीसदी की गिरावट से घरेलू स्तर पर भी खाद्य तेलों के भावों में स्थिरता या गिरावट का रुख देखा गया।  
 
उन्होंने बताया कि विदेशी तेलों के मुकाबले देसी तेलों के सस्ता होने के कारण सरसों, बिनौला और मूंगफली तेल की घरेलू बाजार में मांग बनी हुई है। हालांकि शनिवार को सरसों दाना की आवक साढ़े छह लाख बोरी से घटकर शनिवार को सवा पांच लाख बोरी ही रही। सूत्रों के अनुसार सरकार के सोयाबीन डीओसी के आयात को खोलने की खबरों के बीच सोयाबीन दाना की कीमतों में गिरावट आई है। यह 300 रुपये प्रति क्विंटल की गिरावट लेकर 7,100-7,200 रुपये प्रति क्विंटल के भाव पर आ गया है।      

कारोबारी सूत्रों ने सरकार से रिफाइंड उत्पादन में सरसों तेल के बढ़ते इस्तेमाल को देखते हुए इसका पर्याप्त स्टॉक बनाकर रखने का अनुरोध करते हुए कहा कि देश को तेल-तिलहन उत्पादन में आत्मनिर्भरता हासिल करने के लिए तेल-तिलहनों का उत्पादन बढ़ाना होगा।

 

Related Articles

Back to top button