जुलाई में 1.49 लाख करोड़ रुपए पहुंचा जीएसटी रेवेन्यू कलेक्शन, 28 फीसदी का उछाल

नई दिल्ली

गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) के मोर्चे पर अच्छी खबर है. जुलाई 2022 में ग्रॉस जीएसटी कलेक्शन (GST Collection) सालाना आधार पर 28 फीसदी बढ़ा है. सरकार को जुलाई में जीएसटी से कुल 1,48,995 लाख करोड़ का रेवेन्यू हासिल हुआ. जीएसटी लागू होने के बाद से यह दूसरा सबसे बड़ा राजस्व है. इसके पहले अप्रैल 2022 में GST से 1,67,540 करोड़ रुपए का रेवेन्यू आया था, जो अबतक का सबसे अधिक है. जून 2022 में जीएसटी कलेक्शन 1,44,616 करोड़ रुपए रहा था. मार्च 2022 के बाद से ही GST क्लेक्शन 1.40 लाख करोड़ से ज्यादा बना हुआ है.

CGST रेवेन्यू 25,751 करोड़ रुपये

जुलाई के लिए, CGST रेवेन्यू 25,751 करोड़ रुपये, SGST रेवेन्यू 32,807 करोड़ रुपये, IGST 79,518 करोड़ रुपये और GST कंपेंनसेशन सेस 10,920 करोड़ रुपये रहा. सरकार ने IGST से 32,365 करोड़ रुपये CGST और 26,774 करोड़ रुपये SGST में तय किए. रेगुलर सेटलमेंट के बाद जुलाई 2022 के महीने में केंद्र और राज्यों का कुल राजस्व सीजीएसटी के लिए 58,116 करोड़ रुपए और एसजीएसटी के लिए 59,581 करोड़ रुपए है.
28 फीसदी बढ़ा GST Collection

जुलाई 2022 के महीने के लिए राजस्व पिछले वर्ष के इसी महीने में 1,16,393 करोड़ रुपए के जीएसटी राजस्व से 28% अधिक है. जुलाई महीने में माल के आयात से राजस्व 48% अधिक था और घरेलू लेनदेन (सेवाओं के आयात सहित) से राजस्व पिछले वर्ष के इसी महीने के दौरान इन स्रोतों से राजस्व की तुलना में 22% अधिक है.

 
लगातार 5वें महीने GST कलेक्शन 1.40 लाख करोड़ के पार

लगातार पांच महीनों से मंथली जीएसटी कलेक्शन 1.40 लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा है, जो हर महीने लगातार ग्रोथ  दर्शाता है.जुलाई 2022 तक जीएसटी राजस्व में पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 35% की बढ़ोतरी हुई है. इकोनॉमिक रिकवरी का जीएसटी राजस्व पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है. जून 2022 के महीने में 7.45 करोड़ ई-वे बिल जेनरेट हुए, जो मई 2022 के 7.36 करोड़ से मामूली अधिक है.

लगातार पांचवें महीने 1.49 लाख करोड़ के पार हुआ टैक्स कलेक्शन

बता दें कि जुलाई माह में टैक्स कलेक्शन का आंकड़ा किसी भी एक महीने में टैक्स संग्रह का दूसरा सबसे ज्यादा आंकड़ा है. वहीं यह लगातार पांचवां महीना है जब जीएसजी कलेक्शन 1.4 लाख करोड़ के पार रहा है. आंकड़ों के अनुसार, जून माह में सरकार ने जीएसटी से 1.44 लाख करोड़ का कलेक्शन किया था. वहीं मई में 1.40 लाख करोड़, अप्रैल में 1.67 लाख करोड़ और मार्च में 1.42 लाख करोड़ का कर संग्रह हुआ था.

इंपोर्ट घटाने के लिए सरकार ने लगायी थी कई ड्यूटीज

बता दें कि सरकार का टैक्स कलेक्शन लगातार बढ़ रहा है. पिछले महीने सरकार ने इंपोर्ट को घटाने के लिए कई तरह की ड्यूटीज लगायी थी. जिसका असर जीएसटी कलेक्शन पर साफ तौर पर देखने को मिल रहा है. इसके अलावा इकोनॉमी ग्रोथ के कारण भी कर संग्रह बढ़ा है.

Related Articles

Back to top button