नौ साल में 17,000 सर्किट किलोमीटर से अधिक पारेषण लाइन बिछाई गई: आर के सिंह

देश में बिजली वितरण व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिये पिछले नौ साल में 17,000 सर्किट किलोमीटर से अधिक पारेषण लाइन बिछायी गयी है।

उज्जवल प्रदेश, नई दिल्ली (एजेंसी)
केंद्रीय बिजली मंत्री आर के सिंह ने कहा कि देश में बिजली वितरण व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिये पिछले नौ साल में 17,000 सर्किट किलोमीटर से अधिक पारेषण लाइन बिछायी गयी है।

उन्होंने ग्रिड कंट्रोलर ऑफ इंडिया लि. (ग्रिड-इंडिया) और वेस्ट अफ्रीकन पावर पूल (डब्ल्यूएपीपी) के साथ मिलकर अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन (आईएसए) की तरफ से आयोजित कार्यक्रम में पश्चिमी अफ्रीकी क्षेत्र के प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए यह बात कही।

सिंह ने प्रतिभागियों से अपने-अपने क्षेत्रों में हरित ऊर्जा के उपयोग को बढ़ावा देने का आग्रह करते हुए कहा कि ऊर्जा के परंपरागत स्रोत के मुकाबले नवीकरणीय ऊर्जा का उपयोग सस्ता है।

उन्होंने कहा कि लोगों को इन देशों को बिजली उपलब्ध कराने के अलावा पारेषण के साथ-साथ बिजली भंडारण व्यवस्था पर भी गौर करने की जरूरत है।

मंत्री ने कहा, ‘‘हमने 2014 के बाद नवीकरणीय ऊर्जा उत्पादन क्षमता में 1,75,000 मेगावॉट का इजाफा किया। हमने वितरण व्यवस्था को मजबूत करने के लिये 17,000 सर्किट किलोमीटर लाइन को सुदृढ़ किया है।’’

अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन के महानिदेशक अजय माथुर ने कहा कि संस्थान पूरी दुनिया में देशों के लिये सौर बिजली को प्राथमिकता वाला क्षेत्र बनाने के लिये काम कर रहा है। संस्थान अपनी मौजूदा सौर परियोजनाओं को पूरा करने, पूरी सौर मूल्य श्रृंखला में ज्ञान साझा करने और क्षमता निर्माण के लिये प्रयास तेज कर रहा है।

 

Back to top button