यह स्टार्टअप कंपनी होने जा रही दिवालिया, पेटीएम के विजय शेखर शर्मा का है निवेश

 नई दिल्ली
एडटेक स्टार्टअप लीडो लर्निंग (Lido Learning) दिवालिया होने जा रही है। कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय (एमसीए) के साथ कंपनी की नियामक फाइलिंग के मुताबिक, लीडो लर्निंग ने नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) की मुंबई बेंच को दिवालियापन के लिए आवेदन किया है। लीडो लर्निंग के निदेशक मंडल ने दिवाला और दिवालियापन (आईबीसी) कोड 2016 की धारा 10 के तहत एक आवेदन दायर करने के लिए एक विशेष प्रस्ताव पारित किया है।

दिग्गज निवेशकों ने लगाया था पैसा
आपको बता दें कि करीब सात महीने पहले इस एडटेक फर्म ने अचानक 1,200 कर्मचारियों को इस्तीफा देने के लिए कहा था और अब कंपनी के दिवालिया होने की खबर सामने आई है। बता दें कि इस स्टार्टअप में Upgrad के फाउंडर रोनी स्क्रूवाला, पेटीएम के फाउंडर विजय शेखर शर्मा (Vijay Shekhar Sharma) और शादी.कॉम के अनुपम मित्तल जैसे दिग्गज निवेशकों ने पैसा लगा रखा था।
 
क्या कहा कंपनी ने?
फर्म की एमसीए फाइलिंग में कहा है, "इनसॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड, 2016 की धारा 10 के अनुसार, कंपनी अपने लोन का भुगतान करने में असमर्थ है, इस लिए कंपनी डिफॉल्ट कर रही है। यह फैसला शेयरधारकों की सहमति द्वारा ली गई है।'' बता दें कि कई स्टार्टअप ने 2022 की शुरुआत के बाद से 11,000 से अधिक कर्मचारियों की छंटनी की है। पिछले दो वर्षों में कोरोनाकाल वाले डिजिटलीकरण के बाद, भर्ती की प्रक्रिया ठंडी चल रही है। क्योंकि स्टार्टअप कंपनी पर फंडिंग नहीं मिलने और कर्ज बढ़ने के चलते बोझ बढ़ते जा रहा है।

 

Related Articles

Back to top button