DU SOL : डीयू एसओएल की पांच लाख से अधिक डिग्रियों को छात्रों का इंतजार

 नई दिल्ली
 
दिल्ली विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग और रेगुलर की पढ़ाई कर चुके लाखों छात्र यहां से अपना अंकपत्र तो ले गए लेकिन उनकी डिग्री अभी संबंधित संस्थानों में पड़ी है। दिल्ली विश्वविद्यालय के एसओएल में ही अकेले पांच लाख डिग्री को अपने छात्रों का इंतजार है। डीयू एसओएल के विशेष कार्य अधिकारी प्रो.उमाशंकर पांडेय का कहना है कि डिग्री को लेकर अलग तरह की उदासीनता है। हमारे यहां पांच लाख से अधिक डिग्री बची हुई है। सबसे पुरानी 1 डिग्री 1966 बैच की है। जबकि 1967 बैच की 5, 1968 बैच की 1 तथा 1969 बैच की कुल 17 डिग्रियां हमारे यहां रखी गई हैं। जिनकी यह डिग्री है यदि वह इसे लेने आते हैं तो हम उनको सम्मानित भी करेंगे।

1966 से 2019 के बीच कुल स्नातक में बीए प्रोग्राम, बीकाम की 4,42,500 डिग्रियां बाकी हैं। जबकि बीए ऑनर्स राजनीति विज्ञान में 30 हजार, बीए ऑनर्स अंग्रेजी की 8 हजार, बीकॉम आनर्स की 23 हजार डिग्रियों को छात्रों का इंतजार है। जबकि परास्नातक के सभी विषयों की 12 हजार डिग्रियों को छात्रों का इंतजार है।

छात्रों में नहीं दिख रहा उत्साह : दिल्ली विश्वविद्यालय के रेगुलर के छात्र भी अपनी डिग्री को लेकर उत्साहित नहीं है। डीयू की परीक्षा शाखा के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि इस बार दीक्षांत समारोह में एक लाख 80 हजार के आसपास ऑनलाइन डिग्री जारी हुई है लेकिन अब तक लगभग 10 हजार छात्रों ने ही अपनी ऑनलाइन डिग्री अपलोड की है।

डाउनलोड करने की भी जहमत नहीं उठा रहे : डीयू के अधिकारी ने कहा कि ऑफलाइन डिग्री लेने के साथ ही छात्र ऑनलाइन डिग्री डाउनलोड करने तक में उदासीनता दिखा रहे हैं।
 
छात्र बोले, अंकपत्र से चल जाता है काम
डीयू के एक पूर्व छात्र सुधांशु ने बताया कि डिग्री की विशेष जरूरत नहीं पड़ती है। नौकरी में भी अंकपत्र से काम चल जाता है। विश्वविद्यालय में डिग्री सुरक्षित है। वहीं, 2013-14 में डीयू से पढ़ाई कर बेंगलुरु में नौकरी कर रहे एक पूर्व छात्र ने बताया कि उसे नौकरी में डिग्री की कोई विशेष जरूरत नहीं पड़ी थी। अब केवल डिग्री के लिए वापस दिल्ली आना थोड़ा मुश्किल लगता है लेकिन जब भी यहां आऊंगा अपनी डिग्री ले लूंगा।

कैसे प्राप्त कर सकते हैं एसओएल की डिग्री
डीयू से डिग्री के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। एसओएल छात्रों को मुफ्त में डिग्री भेजता है। इसके लिए आवेदन करना होगा। रेगुलर छात्र पहले की डिग्री अपने कॉलेज से प्राप्त कर सकते हैं। परीक्षा शाखा से ऑनलाइन डिग्री डाउनलोड कर सकते हैं।

 

Related Articles

Back to top button