नक्सल प्रभावित इलाकों के स्थानीय बोली के जानकार 400 युवकों की भर्ती सीआरपीएफ में होगी

जगदलपुर
बस्तर संभाग के नक्सल प्रभावित इलाकों के दंतेवाड़ा, बीजापुर, एवं सुकमा के स्थानीय बोली के जानकार 400 युवकों की सीआरपीएफ बटालियन में भर्ती होगी। सीआरपीएफ बटालियन में भर्ती के 400 में से दंतेवाड़ा से 128, बीजापुर से 128, सुकमा से 144 युवकों की 10 अक्टूबर से भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सीआरपीएफ ने नक्सल क्षेत्र में नक्सलवाद को खत्म करने के लिए कई कैंप स्थापित किए हैं, इसका अच्छा परिणाम भी देखने को मिल रहा है। उक्त जिलों के अंदरूनी क्षेत्रों में स्थापित सीआरपीएफ कैंप की बदौलत नक्सली बैकफुट में हैं। सीआरपीएफ जवानों ने ग्रामीणों का विश्वास जीता है। बस्तर में स्थानीय बेरोजगारों को रोजगार देने के लिए जिला प्रशासन ने बस्तर बटालियन की भर्ती भी निकाली थी, जिसमें युवाओं की भर्ती प्रक्रिया पूरी होकर अपनी सेवायें देने की ओर अग्रसर हैं। इन युवाओं को देखकर अंदरूनी क्षेत्र के रहने वाले युवाओं ने भी सीआरपीएफ में भर्ती होने का निर्णय लिया। लिहाजा सीआरपीएफ अब स्थानीय बेरोजगारों की भर्ती कर रही है। भर्ती प्रक्रिया के लिए सीआरपीएफ के अधिकारियों ने तैयारी भी कर लिया है।

Related Articles

Back to top button