पति की मौत के बाद मैंने कई बार सोचा कि ऐक्टिंग छोड़ दूं: हिमानी शिवपुरी

‘हप्पू की उलटन पलटन’ में कटोरी अम्मा की भूमिका निभा रहीं, हिमानी शिवपुरी, पिछले तीन दशकों से भारत की सबसे प्रतिभाशाली और बेहतरीन अदाकारा रही हैं। उन्होंने अपने हर दौर की ब्लॉकबस्टर फिल्मों में भी काम किया है और ऐक्टिंग के अपने जबर्दस्त हुनर से लाखों दर्शकों का दिल जीता है। थियेटर को लेकर हिमानी शिवपुरी के अंदर काफी जुनून रहा है, जिसकी वजह से उन्हें इतना नाम, शोहरत और पहचान मिली। हिमानी ने कहा कि आर्गेनिक केमेस्ट्री में पोस्ट-ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद, मैं एडवांस स्टडीज के लिये यूनाइटेड स्टेट्स जाने वाली थी। उसी समय, मेरा सिलेक्शन एनएसडी (नेशनल स्कूल आॅफ ड्रामा) के लिये हो गया। जब मैंने अपने परिवारवालों को बताया कि मैं एनएसडी जाना चाहती हूं, तो हर कोई परेशान हो गया। शुरूआत में बॉलीवुड को लेकर मेरे विचार नकारात्मक थे। मैं मूवीज में नहीं जाना चाहती थी। मेरा मानना था कि बॉलीवुड ऐसी जगह होती है जहां अभिनेत्रियों से अंग प्रदर्शन की उम्मीद की जाती है। अपने दिवगंत पति ज्ञान शिवपुरी से मिलने से पहले तक मैं नाटक और थियेटर तक ही सीमित थी। उन्होंने मुझे फिल्में करने के लिये प्रोत्साहित किया। मैंने आॅडिशन देना शुरू किया और मैं आभारी हूं और खुद को खुशकिस्मत मानती हूं कि मुझे ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे’, ‘परदेस’ और ‘उमराव जान’ जैसी क्लासिक फिल्मों में काम करने का मौका मिला।

Related Articles

Back to top button