तरुण मजूमदार का निधन, शॉक में फिल्म इंडस्ट्री

'बालिका वधू' जैसी फिल्में डायरेक्ट करने वाले मशहूर बंगाली फिल्ममेमकर तरुण मजूमदार का निधन हो गया है। तरुण मजूमदार काफी वक्त से कोलकाता के एक सरकारी अस्पताल में भर्ती थे, जहां उनका इलाज चल रहा था। वह उम्र संबंधी कई बीमारियों से जूझ रहे थे। उन्हें किडनी और हार्ट की समस्या बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि तरुण मजूमदार ने सरकारी अस्पताल में आखिरी सांस ली।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, तरुण मजूमदार के शरीर के ज्यादातर पार्ट्स काम नहीं कर रहे थे। इस वजह से उन्हें 14 जून 2022 को कोलकाता के एक अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। रविवार 3 जुलाई को तरुण मजूमदार की हालत बिगड़ गई, जिसके बाद उन्हें वेंटिलेटर पर शिफ्ट कर दिया गया था। डॉक्टरों ने तरुण मजूमदार को बचाने की काफी कोशिश की, पर नाकामयाबी ही हाथ लगी। बताया जा रहा है कि तरुण मजूमदार ने 4 जुलाई को 11 बजकर 17 मिनट पर आखिरी सांस ली।

ममता बनर्जी समेत इन सेलेब्स ने जताया शोक
तरुण मजूमदार के निधन पर ममता बनर्जी ने शोक जताया है। 'एबीपी न्यूज' की रिपोर्ट के मुताबिक, ममता बनर्जी ने तरुण मजूमदार के योगदान और फिल्मों को याद करते हुए कहा कि उन्हें उनके निधन से गहरा झटका लगा है।

नैशनल अवॉर्ड समेत पद्मश्री से सम्मानित थे तरुण मजूमदार
तरुण मजूमदार को ज्यादातर बंगाली सिनेमा में दिए योगदान के लिए जाना जाता है। तरुण मजूमदार ने 'बालिका वधू' के अलावा 'श्रीमान पृथ्वीराज', 'कुहेली' 'आपन अमार आपन' जैसी कई फिल्में डायरेक्ट कीं। उन्होंने चार नैशनल अवॉर्ड्स, पांच फिल्मफेयर और एक आनंदलोक अवॉर्ड जीता था। 1990 में भारत सरकार ने तरुण मजूमदार को पद्मश्री से सम्मानित किया था।

Related Articles

Back to top button