दस साल बाद तमिल ऐक्टर जोसेफ विजय चंद्रशेखर यानी थलापति विजय ने दिया इंटरव्यू

तमिल ऐक्टर जोसेफ विजय चंद्रशेखर यानी थलापति विजय वैसे तो प्रमोशन और मीडिया इंटररेक्शंस से कोसों दूर रहते हैं। लेकिन इस बार उन्होंने अपने इस नियम को बदला और पूरे 10 साल बाद एक इंटरव्यू दिया। इससे पहले उनके आखिरी इंटरव्यू पर खूब बवाल मचा था और इसी विवाद के चलते उन्होंने फिर दूसरा इंटरव्यू नहीं दिया। लेकिन इस बार उन्होंने अपनी हालिया फिल्म बीस्ट के लिए ये नियम बदला। इस रेयर इंटरव्यू ने साउथ ही नहीं देशभर में खूब सुर्खियां बटौरी। बीस्ट ऐक्टर विजय ने इस नए इंटरव्यू में अपने विवादों, फिल्मों की रिलीज और राजनीति में आने की सुगबुगहाट को लेकर कायदे से जवाब दिए।

थलापति विजय ने अपना ये इंटरव्यू बीस्ट के निर्देशक नेल्सन दिलीप कुमार को दिया। इस 48 मिनट के इंटरव्यू की शुरुआत ही डायरेक्टर ने विजय से ये पूछकर की आखिर क्या कारण था कि आपने 10 साल तक इंटरव्यू से दूरी बनाए रखी? क्या आपके पास समय नहीं था या इसके कोई दूसरी वजह थी? इस पर विजय ने कहा, टाइम की बात नहीं है। मैं उतना बिजी शख्स नहीं हूं। मैं समय इंटरव्यू के लिए दे सकता था लेकिन 10-11 साल पहले एक हादसा हुआ था। यही सबसे बड़ा कारण है। मैंने कुछ चीजें ऐसी कह दी थी कि तबसे में सावधानी बरतने लगा।

ऐसी क्या घटना थी कि आप 10 साल तक चुप ही रहे?
जब मैंने अपना वो 10 साल पुराना इंटरव्यू पढ़ा तो मैंने सोचा कि ये तो मैं नहीं हूं। मैं असल जिंदगी में ऐसा बिल्कुल नहीं था। मैंने देखा कि मेरी कही बात को एकदम अलग तरह से पब्लिश किया गया था। जो मैं था ही नहीं। फिर मैंने सोचा कि मुझे लोगों को चीजें साफ करनी चाहिए।

थलापति का ‘टेक इट ईजी, मेक इट ईजी’ का मंत्र
क्या आपको गुस्सा आता है? अभिनेता ने इस सवाल पर कहा कि मुझे गुस्सा आता है लेकिन मैं फिर सोचता हूं कि जब आपने वो मौका गवां दिया है तो आंखों में आंसू भरने का कोई मतलब नहीं है। ऐसा करेंगे तो नया मौका भी धुंधला हो जाएगा और हमसे वो चांस भी दूर हो जाएगा। इसीलिए ‘टेक इट ईजी, मेक इट ईजी’।

धर्म और भगवन को लेकर विजय
धर्म और भगवान को लेकर विजय ने कहा कि उनकी मां हिंदू हैं और पिता ईसाई हैं। मैं मंदिर, दरगाह और चर्च सब जगह जाता हूं। मुझे कभी किसी ने नहीं कहा कि आप इस जगह मत जाओ या इस जगह जाओ। यही चीज मैंने अपने बच्चों को भी दी है।

थलापति विजय की ये बात हर फैन के दिल को छू गई
बीस्ट ऐक्टर ने पिता एस ए चंद्रशेखर को लेकर भी एक जवाब दिया। उन्होंने कहा कि, ईश्वर और पिता में एक अंतर होता है। ईश्वर को हम देख नहीं सकते लेकिन पिता को आप देख सकते हैं।

राजनीति ज्वाइन करेंगे थलापति विजय?
लंबे समय तक कयास रहे हैं कि क्या विजय राजनीति में कदम रखेंगे? तो इस इंटरव्यू में उन्होंने इस सवाल पर भी जवाब दिया। उन्होंने कहा कि राजनीति में कदम रखना उनके फैंस की मर्जी पर निर्भर करता है। अगर वह चाहते हैं कि मैं एक लीडर बनूं तो मैं उस चीज को जरूर पूरा करूंगा।

 

 

Related Articles

Back to top button