‘रोर’ को दुनिया की सबसे खतरनाक फिल्म मरते-मरते बचा था डायरेक्टर का परिवार

सिनेमा के इतिहास में फिल्मों की शूटिंग के दौरान ऐसे हादसे हुए हैं, जिनके बारे में जानकर रोंगटे खड़े हो जाएंगे। कभी शूट के दौरान कलाकारों की जान पर बन आई तो कभी ऐसी खौफनाक वाकये हुए कि हर कोई जानकर सहम उठा। साउथ से लेकर बॉलीवुड और हॉलीवुड तक में ऐसी कई उदाहण हैं। इनमें हिंदी फिल्म 'काल' से लेकर 'वॉटरवर्ल्ड' और 'द आइगर सेंक्शन' तक कई फिल्मों के नाम शामिल हैं। एक फिल्म के शूट पर तो एक आर्टिस्ट ने सच में गोली चला दी थी, जिससे दूसरे आर्टिस्ट की मौत हो गई थी। लेकिन क्या आप जानते हैं कि दुनिया की सबसे खतरनाक फिल्म कौन सी है?

इस फिल्म का नाम है 'रोर' (Roar) और नवभारत टाइम्स ऑनलाइन की 'फिल्मी फ्राइडे' सीरीज में हम आपको इसी फिल्म के बारे में बताने जा रहे हैं। इस फिल्म के शूट के दौरान ऐसी-ऐसी चीजें हुई थीं, जिनके बारे में जान लोगों की सांसें अटक गई थीं। फिल्म को 150 खतरनाक जानवरों के साथ शूट किया था। इस दौरान कई क्रू मेंबर्स घायल हो गए थे।

150 खतरनाक जानवरों के साथ शूट हुई 'रोर', शेरों के साथ रहा डायरेक्टर
'रोर' को नोइल मार्शल ने डायरेक्ट किया था। उन्होंने इस फिल्म की कहानी भी लिखी थी और मेन हीरो भी वही थे। तब यह फिल्म करीब 16 करोड़ के बजट में बनी थी। इस फिल्म को बनाने में ही 11 साल लग गए थे। 'रोर' की शूटिंग शेर, हाथी, जगुआर और तेंदुआ जैसे 150 जानवरों के साथ शूट की गई थी। शूट करने के मकसद से इन सभी जानवरों को एक बाड़े में रखा गया था। फिल्म की प्रिंसिपल फोटोग्राफी 1976 में शुरू हुई थी। नोइल मार्शल करीब छह महीनों तक नोइल मार्शल को शेरों के साथ ही रहना पड़ा था। इस बारे में नोइल ने एक इंटरव्यू में बताया था, 'मैं एक घर में छह महीनों तक रहा। मेरे पास एक बेडरूम था। तीन बेडरूम ऊपर थे। उस घर में मैं और मेरे दो दोस्त थे। हमारे साथ उस घर में 15 शेर भी रह रहे थे। सुबह को 3 बजे हम सो जाते थे। उस समय स्थिति ऐसी थी कि वो शेर आपको मार भी सकते थे। और जब वो आपको नहीं मारते तो आपका उन पर विश्वास बन जाता है।'

फिल्म की हीरोइन को शेर ने गर्दन पर काटा, 38 टांके आए
'रोर' में नोइल मार्शल की पत्नी, बेटी और बेटे का भी रोल था। नोइल की पत्नी टिप्पी हेडरन फिल्म की लीड हीरोइन थीं। फिल्म की शूटिंग के दौरान नोइल के साथ-साथ पूरा परिवार और अन्य लोग कई बार घायल हुए। एक बार तो उनकी बेटी और पत्नी इतने गंभीर रूप से घायल हो गईं कि जान पर बन आई। एक हाथी ने नोइल की पत्नी टिप्पी हेडरन और बेटी पर हमला कर दिया था, जिससे उनका पैर फ्रेक्चर हो गया था। वहीं एक सीन शूट के दौरान सेर ने टिप्पी हेडरन की गर्दन पर काट लिया था। बताया जाता है तब उन्हें करीब 38 टांके आए थे। हमले वाले ये रियल सीन बाद में फिल्म में भी शामिल किए गए थे।

टिप्पी हेडरन और नोइल की पत्नी ने 'रोर' की मेकिंग पर बाद में एक किताब भी लिखी थी, जिसका नाम है The Cats of Shambala…इसमें टिप्पी ने बताया था कि शूटिंग के दौरान किस तरह उनका पूरा परिवार मरते-मरते बचा था। टिप्पी ने किताब में बताया था कि किस तरह हाथी ने उनकी टांग पर अटैक किया और उन्हें गैंगरीन हो गया। वहीं शेर ने उनके सिर पर काट लिया। उन हादसों ने हर किसी के रोंगटे खड़े कर दिए थे।

6 महीने अस्पताल में रहे नोइल, बेटी का चेहरा हुआ खराब
खुद डायरेक्टर नोइल मार्शल करीब छह महीने तक अस्पताल में भर्ती रहे। उनकी टांगों में गंभीर चोट लगी थी और शेर के हमले के कारण गैंगरीन हो गया था। बेटी Melanie Griffith का तो आधा चेहरा ही खराब हो गया था। उन्हें 50 टांके आए थे। यही नहीं मेलनी ग्रिफ्थ का चेहरा ठीक करने के लिए उनकी सर्जरी करनी पड़ी थी। इन घटनाओं फिल्म की पूरी टीम बुरी तरह खौफ में आ गई थी।

सिनेमैटोग्राफर को आए 220 टांके, हमले की घटनाएं फिल्म में शामिल
फिल्म के सेट पर ऐसे कई हादसे हुए जब शेरों ने क्रू मेंबर्स पर हमला बोल दिया। बताया जाता है कि करीब 70 क्रू मेंबर्स 'रोर' की शूटिंग के दौरान घायल हो गए थे। फिल्म के सिनेमैटोग्राफर जैन डे बोंट थे। उन पर शेर ने बुरी तरह अटैक कर दिया था और इस वजह से उन्हें करीब 220 टांके आए थे। इस फिल्म को बनाने के लिए नोइल मार्शल ने पूरी कास्ट और क्रू की जान खतरे में डाल दी थी। नोइल के बेटे जॉन ने एक इंटरव्यू में बताया था कि फिल्म में काम करने वाले एक्टर्स मदद के लिए चिल्लाते रहते, रोते रहते। लेकिन पापा 'कट' नहीं बोलते थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक, फिल्म के कुछ क्रू मेंबर्स की मौत भी हो गई थी। इन हादसों की वजह से 'रोर' को बनने में करीब 11 साल लगे और इस वजह से इसका बजट भी पार हो गया।

Show More

Related Articles

Back to top button
Join Our Whatsapp Group