यूट्यूबर एमा चैंबरलिन ऐतिहासिक नेकलेस पहनकर पहुंचीं मेट गाला

 
इस साल का मेट गाला इवेंट बेहद शानदार रहा। इसमें शामिल होने वाले सिलेब्रिटीज के फैशन सेंस की खूब चर्चा हुई। जहां किम कार्दशियन पॉप आइकन मर्लिन मुनरो  की ड्रेस पहनकर मेट गाला में पहुंचीं, वहीं अन्य हस्तियों ने भी एकदम अनूठे आउटफिट ट्राई किए। लेकिन जब अमेरिकन यूट्यूबर एमा चैंबरलिन मेट गाला में पहुचीं तो सबकी नजरें उन पर टिक गईं। ये नजरें एमा पर उनकी ड्रेस नहीं बल्कि उनके एतिहासिक डायमंड नेकलेस के कारण टिकीं। दावा किया जा रहा है कि यह नेकपीस एमा का नहीं बल्कि पंजाब स्थित पटियाला के महाराजा भूपिंदर सिंह का है। इस कारण इंडियन यूजर्स भी भड़क गए हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, पटियाला के महाराजा भूपिंदर सिंह के पास DeBeers डायमंड थे। उन्होंने Cartier को एक नेकलेस बनाने का आदेश दिया था। साथ ही कहा था कि नेकलेस के सेंटर में DeBeers डायमंड लगा दें। यह दुनिया का सातवां सबसे बड़ाहीरा है। बताया जाता है कि भूपिंदर सिंह ने 1948 में इस नेकलेस को बेटे और युवराज यदविंद्र सिंह को पहना दिया था। पर इसके कुछ वक्त बाद ही वह नेकलेस अचानक गायब हो गया।

Nussbaum को लंदन में मिला था। हालांकि यह नेकलेस का सिर्फ आधा हिस्सा था, जिसमें कोई DeBeers डायमंड और बर्मीज रूबी भी नहीं थे। तब कार्टियर ने इस नेकलेस को DeBeers डायमंड और रूबी के बिना ही जोड़कर दोबारा बनाने का फैसला किया। लेकिन जैसे ही मेट गाला पर Emma Chamberlain ने इस डायमंड नेकलेस में मेट गाला में एंट्री की तो सोशल मीडिया पर इसी बात की चर्चा होने लगी। दावा किया जाने लगा कि यह पटियाला के महाराजा भूपिंदर सिंह का नेकलेस है। एमा Cartier की ब्रांड एंबेसेडर हैं और उन्होंने मेट गाला के लिए इसी की जूलरी पहनी थी।

इंडियन यूजर्स भड़के, कहा- हमारा हीरा वापस दो
एमा को एतिहासिक नेकलेस में देख ट्विटर पर इंडियन यूजर्स ने एमा को खरी-खोटी सुनानी शुरू कर दी। एक यूजर ने कहा कि यह हीरा हमारा है और इसे हमें वापस कर दिया जाना चाहिए। एक अन्य यूजर ने लिखा, 'थैंक्स Cartier. यह पटियाला के महाराजा की जूलरी है। यह हमारे देश से चुराई जूलरी है, कोई फैंसी जूलरी नहीं है जो सिलेब्रिटीज को पहनने को दे दी जाए। यह घोर बेइज्जती है।'

हालांकि कुछ यूजर्स का ऐसा भी कहना था कि यह नेकलेस महाराजा भूपिंदर सिंह का नहीं है, बल्कि कार्टियर ने बनाया है। इस पर अभी तक Emma Chamberlin का कोई रिऐक्शन नहीं आया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button