5जी के पास टेलीमेडिसिन स्पेस को बड़े पैमाने पर खोलने का अवसर: ओरेकल

लास वेगास
 चूंकि भारत ने चुनिंदा शहरों में 5जी की शुरुआत की है, दूरस्थ क्षेत्रों में इष्टतम स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने में प्रौद्योगिकी की भूमिका से इनकार नहीं किया जा सकता है और क्लाउड प्रमुख ओरेकल के अनुसार, भारत जैसे देश दो मोर्चो- सुपर-फास्ट और रीयल-टाइम दूर-दराज के क्षेत्रों में टेलीमेडिसिन और एम्बुलेंस देखभाल की डिलीवरी पर सबसे मूल रूप से लाभान्वित हो सकते हैं। ओरेकल के कार्यकारी उपाध्यक्ष माइक सिसिलिया के अनुसार, लोगों के जीवन को बचाने और रोगियों के लिए बेहतर परिणाम देने से ज्यादा महत्वपूर्ण कुछ नहीं है और 5जी भारत जैसे देशों को इसे हासिल करने में मदद करने में सक्षम है।

सिसिलिया ने यहां एक साक्षात्कार के दौरान आईएएनएस को बताया, "मुझे लगता है कि 5जी के पास टेलीमेडिसिन स्पेस को बड़े पैमाने पर खोलने का अवसर है। तथ्य यह है कि 5जी-सक्षम डिवाइस जो क्लाउड से जुड़े हैं, वे केवल डॉक्टर-रोगी वीडियो चैट से परे हैं जैसा कि हमने महामारी के दौरान देखा था। 5जी एक स्वास्थ्य सेवा प्रदाता को रोगी के महत्वपूर्ण लक्षणों तक पहुंचने और बीमारी का तेजी से और कुशल तरीके से निदान करने में मदद कर सकता है।"

सिर्फ टेलीमेडिसिन स्पेस ही नहीं, 5जी अस्पतालों को कई मशीनों के माध्यम से विशाल डेटा-सेट को समझने में मदद कर सकता है।

उन्होंने विस्तार से बताया, "कम विलंबता, एमआरआई, एक्स-रे और डायलिसिस मशीनों आदि में उच्च-बैंडविड्थ कनेक्शन होने से हमें कुछ कंप्यूटिंग डेटा को क्लाउड में स्थानांतरित करने, कोविड जैसी विभिन्न प्रकार की बीमारियों का पता लगाने के लिए आगे के निर्देशों के साथ उस मशीन को पुनर्गणना और पुन: लोड करने की अनुमति मिलेगी। यह पूरी तरह से बदल सकता है कि मशीन आज हमारे लिए क्या करती है।"

ओरेकल ने लाखों लोगों के लिए अपने हेल्थकेयर पुश को दोगुना कर दिया है और इसे प्राप्त करने में 5जी की महत्वपूर्ण भूमिका है।

स्वास्थ्य विज्ञान की क्षमताएं विकसित हो रही हैं, नैदानिक अनुसंधान करने के नए तरीकों की शुरुआत हो रही है, जिसमें दूरस्थ डेटा संग्रह, रोगी निगरानी और नैदानिक परीक्षणों का समर्थन करने के लिए 5जी तकनीक को अपनाना शामिल है।

5जी नेटवर्क रोगियों की 24/7 निगरानी में सक्षम बनाता है (आसन्न एपिसोड के चेतावनी विशेषज्ञ, चाहे निम्न रक्त शर्करा, दिल का दौरा, या अन्य महत्वपूर्ण संकेत) सक्रिय हस्तक्षेप की आवश्यकता है।

कंपनी के अनुसार, 5जी की क्षमताओं ने परीक्षण प्रतिभागियों और दवा कंपनियों के बीच सुरक्षित, सटीक, तेज डेटा संग्रह को सशक्त बनाया है।

भारत में कंपनियां अब 5जी के लिए तैयार एंबुलेंस बना रही हैं। भारती एयरटेल के पास 5जी कनेक्टेड एम्बुलेंस है जो आपातकालीन स्थितियों में प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल को बदल सकती है।

अत्याधुनिक 5जी एम्बुलेंस लेटेस्ट चिकित्सा उपकरणों, रोगी निगरानी अनुप्रयोगों और टेलीमेट्री उपकरणों से सुसज्जित है जो रोगी के स्वास्थ्य डेटा को वास्तविक समय में अस्पताल तक पहुंचाते हैं।

इसके अलावा, यह ऑनबोर्ड कैमरा, कैमरा-आधारित हेडगियर और पैरामेडिक स्टाफ के लिए 'बॉडीक कैम्स' से भी लैस है। सभी अल्ट्रा-फास्ट और लो लेटेंसी एयरटेल 5जी नेटवर्क से जुड़े हैं।

ओरेकल के अनुसार, कम विलंबता 5जी संवर्धित वास्तविकता (एआर) और आभासी वास्तविकता (वीआर) इमर्सिव प्रशिक्षण को सक्षम कर सकती है, जिसका उपयोग डॉक्टरों को उनके शरीर रचना के प्रभावशाली 360 डिग्री पुनर्निर्माण के साथ रोगियों को निदान और सर्जरी की व्याख्या करने में मदद करने के लिए भी किया जा सकता है।

सिसिलिया के अनुसार, 5जी बिना किसी अंतराल के एक डॉक्टर और एक मरीज के बीच रीयल-टाइम संचार की सुविधा प्रदान करेगा जो कि महत्वपूर्ण है।

Related Articles

Back to top button