CEO ने महिला स्टाफ का किया रेप ,अब हर्जाने में देने होंगे 9 करोड़

लंदन

ऑफिस पार्टी के बाद एक महिला स्टाफ का रेप किया गया. महिला, उस वक्त नशे में थी. कंपनी के CEO ने ही उनका रेप किया. घटना के बाद महिला ने नौकरी से इस्तीफा दे दिया और रोजगार न्यायधिकरण में शिकायत दर्ज कराई. अब रोजगार न्यायधिकरण ने पीड़ित महिला को 9 करोड़ रुपए हर्जाना देने का फैसला सुनाया है.

ये घटना ब्रिटेन की है. लंदन स्थित रोजगार न्यायधिकरण में सुनवाई के दौरान बताया गया कि पार्टी के बाद होटल रूम में महिला का रेप किया गया. महिला एक रिक्रूटमेंट एजेंसी के साथ काम कर रही थी.

जिस रात महिला का रेप हुआ, वह उस समय नशे में थीं और ठीक से खड़ी भी नहीं हो पा रही थीं. महिला को उस रात की कुछ-कुछ घटनाएं ही याद हैं. इसके बावजूद न्यायाधिकरण ने फैसला सुनाते हुआ कहा कि महिला के साथ यौन शोषण की बात सच है. हालांकि, कंपनी के बॉस ने इन आरोपों से इनकार किया है.

पैनल ने महिला को करीब 9 करोड़ रुपए का हर्जाना देने का फैसला सुनाया है. इसमें इस्तीफा देने की वजह से महिला को हुए नुकसान, पर्सनल इंज्यूरी के नाम पर करीब 68 लाख रुपए और भावनाएं आहत होने की वजह से करीब 15.4 लाख रुपए देने का फैसला शामिल है.

महिला की तरफ से लगाए गए सारे आरोपों को कंपनी के सीईओ ने खारिज किया है. उन्होंने महिला के साथ किसी भी सेक्शुअल कॉन्टैक्ट होने से इनकार किया है और कहा कि वह महिला के कमरे में सिर्फ 10 मिनट के लिए बैग देने गए थे.

हालांकि, मामले पर फैसला सुनाने वाले पैनल ने इवेंट के टाइमलाइन को नोटिस करने के बाद कहा कि घटना को अंजाम देने के लिए आरोपी के पास काफी टाइम था. सुनवाई के दौरान बताया गया कि कंपनी के सीईओ ने ऑफिस की बातचीत को सेक्शुअलाइज्ड किया था.

पैनल के फैसले के बावजूद कंपनी के सीईओ के खिलाफ कोई क्रिमिनल केस दर्ज नहीं किया गया है. पुलिस के खराब इन्वेस्टिगेशन और स्वतंत्र सबूतों की कमी की वजह से उन्हें छोड़ दिया गया.

Related Articles

Back to top button