तुर्की में कोयला खदान में विस्फोट,अब तक 25 लोगों की मौत

अंकारा
उत्तरी तुर्की में काले सागर तट पर एक कोयला खदान में विस्फोट की खबर है, जिसमें अब तक 25 लोगों की मौत हो गई है। वहीं अभी कई लोगों के फंसे होने की आशंका जताई जा रही है, जिनके लिए बचाव अभियान जारी है। तुर्की ने आधिकारिक रूप से बताया कि जिस समय खदान में धमाका हुआ, उस समय लगभग 110 लोग काम कर रहे थे। वहीं खदान में विस्फोट क्यों हुआ इसकी वजह अभी तक साफ नहीं हुई है।

पहले इस विस्फोच के कारण 14 लोगों की मौत की खबर आई थी, जिनकी संख्या बढ़कर 25 हो गई है। मरने वालों की संख्या की पुष्टि तुर्की के गृहमंत्री कीसुलेमान सोयलु ने की। इसके साथ ही स्वास्थ्य मंत्री फहार्टिन कोका ने बताया है कि अब तो कोयला खदान से 11 लोगों को जिंदा बाहर निकाला गया है।

तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन दुर्घटनास्थल का करेंगे दौरा
तुर्की के गृहमंत्री ने कीसुलेमान सोयलु ने बताया कि घटना के समय खदान में कम से कम 100 लोग काम कर रहे थे। उन्होंने बताया कि खदान में 300 से 350 मीटर के बीच दो अलग-अलग क्षेत्रों में लगभग 50 खनिक फंसे हुए हैं। तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ने घटना पर दुख व्यक्त किया है। वह शनिवार को विस्फोट स्थल का दौरा करेंगे।
 
राष्ट्रपति ने दिए जांच के आदेश
राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ने इस घटना की जांच के आदेश दे दिए है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा कि "हमारी उम्मीद है कि जान-माल का नुकसान और नहीं बढ़ेगा, हमारे खनिक सुरक्षित बच जाएंगे, जिसके लिए कोशिशे की जा रही हैं। धमाका सूर्यास्त से कुछ समय पहले ही हुआ है, जिसके कारण बचाव कार्य अंधेरे के कारण बाधित हो गया था।"

खदान से बचाए गए कई लोग गंभीर रूप से घायल
स्थानीय मीडिया के अनुसार खदान से बचाए गए लोगों में से कई गंभीर रूप से घायल हो गए, जिन्हें अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। तुर्की की मीडिया ने बताया कि 13 मई 2014 में तुर्की ने सबसे घातक कोयला खनन आपदा देखी, जिसमें कम से कम 300 लोगों की मौत हुई थी।

Related Articles

Back to top button