इमरान खान की ‘चिंदी चोरी’, डकार गए विदेशों में मिले 14 करोड़ के 58 गिफ्ट

इस्लामाबाद।

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान पर गंभीर आरोप लग रहे हैं। उन्होंने अपने 3.5 साल के कार्यकाल के दौरान विभिन्न देशों से ​​14 करोड़ रुपए से अधिक की राशि के 58 उपहार प्राप्त किए थे। उन्होंने ये सभी उपहार या तो कुछ पैसे देकर या फिर बिना किसी भुगतान के अपने पास रख लिया। रिपोर्ट के अनुसार, भ्रष्टाचार को दूर करने के आह्वान पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनने वाले इमरान खान ने सरकारी खजाने पर बोझ को कम करने के लिए कई उपायों को लागू करने का दावा किया था। हालांकि, उन्हें दुबई में 14 करोड़ रुपये के तोशाखाना उपहार बेचते पाया गया था।

जहां तक ​​इमरान खान द्वारा रखे गए अन्य उपहारों की बात है तो उन्होंने रोलेक्स घड़ी, कफ़लिंक की एक जोड़ी, एक अंगूठी और हार, ब्रेसलेट और एक जोड़ी झुमके के बॉक्स को अपने पास सिर्फ एक करोड़ रुपए का भुगतान कर अपने पास रख लिया। इसकी कीमत दो करोड़ रुपए से अधिक है। अन्य उपहारों में 30 लाख रुपए की रोलेक्स घड़ी शामिल थी, जिसे उन्होंने अक्टूबर 2018 में लगभग 754,000 का भुगतान करके अपने पास रख लिया था।उन्होंने 15 लाख रुपए की एक और रोलेक्स घड़ी सिर्फ 294,000 देकर अपने पास रख ली। 'द न्यूज इंटरनेशनल' की रिपोर्ट के अनुसार, उपहारों के एक अन्य सेट में कुछ रोलेक्स घड़ियां, एक आईफोन और 17 लाख की मूल्य की अन्य वस्तुएं शामिल थीं। उन्होंने इसके लिए सिर्फ 338,600 का भुगतान किया।

इमरान खान ने 14 करोड़ रुपए मूल्य के उपहारों के लिए सिर्फ 3.8 करोड़ का भुगतान किया। इसके अलावा 800,200 के अन्य उपहार बिना कोई भुगतान किए अपने पास रख लिए। नियमानुसार किसी सरकारी पदाधिकारी को दूसरे देश के नेता से प्राप्त उपहार को राजकोष में जमा किया जाता है। उपहार को बनाए रखने के इच्छुक लोग एक निश्चित राशि का भुगतान करके ऐसा कर सकते हैं। उस समय यह 20 प्रतिशत था। दिसंबर 2018 में नियमों को संशोधित किया गया था, जिसमें इन उपहारों को बनाए रखने के लिए 50 प्रतिशत के भुगतान की आवश्यकता थी।

संयोग से  इमरान खान ने खजाने से लक्जरी उपहार और वाहन प्राप्त करने के आरोप में पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी और पूर्व प्रधानमंत्रियों नवाज शरीफ और यूसुफ रजा गिलानी के खिलाफ मामला दर्ज करने का आदेश दिया था।

 

Related Articles

Back to top button