International News : टाइटैनिक देखने गए सभी यात्रियों की मौत, पनडुब्बी के टुकड़े दिखे; रोबोट ने खोज निकाला

International News : पनडुब्बी में सवार पाकिस्तानी अरबपति समेत सभी लोगों की मौत की भी पुष्टि हो गई है। हालांकि, इनमें से किसी का शव बरामद नहीं किया जा सका है। टाइटन पनडुब्बी का मलबा कनाडा की एक रिमोटली ऑपरेटेड यूएवी ने बीते शुक्रवार को बरामद कर लिया।

International News: उज्जवल प्रदेश, न्यूयॉर्क. टाइटैनिक का मलबा देखने गई पनडुब्बी समुद्र में डूब चुकी है। इसी के साथ इस पनडुब्बी में सवार पाकिस्तानी अरबपति समेत सभी लोगों की मौत की भी पुष्टि हो गई है। हालांकि, इनमें से किसी का शव बरामद नहीं किया जा सका है। टाइटन पनडुब्बी का मलबा कनाडा की एक रिमोटली ऑपरेटेड यूएवी ने बीते शुक्रवार को बरामद कर लिया। यह मलबा टाइटैनिक के पास ही पड़ा हुआ था।

टाइटन पनडुब्बी को ऑपरेट करने वाली कंपनी ओशनगेट ने आधिकारिक तौर पर घोषणा की है कि उनका मानना है कि चालक दल से पांच सदस्य दुखद रूप से खो गए हैं। इस हादसे में ओशनगेट कंपनी के संस्थापक और सीईओ भी शामिल हैं।

ओशनगेट कंपनी ने क्या कहा

ओशनगेट ने बयान जारी करते हुए कहा कि अब हम मानते हैं कि हमारे सीईओ स्टॉकटन रश, शहजादा दाऊद और उनके बेटे सुलेमान दाऊद, हामिश हार्डिंग और पॉल-हेनरी नार्जियोलेट को खो दिया गया है। बयान में आगे कहा गया है कि ये लोग सच्चे खोजकर्ता थे, जिनमें रोमांच की एक अलग भावना और दुनिया के महासागरों की खोज और सुरक्षा के लिए गहरा जुनून था। इस दुखद समय में हमारे दिल इन पांच आत्माओं और उनके परिवारों के प्रत्येक सदस्य के साथ हैं। हम उनके द्वारा जान-पहचान वाले सभी लोगों के लिए लाए गए जीवन और खुशी के नुकसान पर शोक व्यक्त करते हैं।

पनडुब्बी में कौन-कौन था सवार

टाइटन पनडुब्बी रविवार को भारतीय समयानुसार शाम सात बजे के आसपास समुद्र में लापता हो गई थी। इस पनडुब्बी में पाकिस्तानी अरबपति शहजादा दाऊद, उनके बेटे सुलेमान दाऊद, हामिश हार्डिंग, पॉल-हेनरी नार्जियोलेट और ओशनगेट के सीईओ स्टॉकटन रश सवार थे। इनसे संपर्क टूटने के बाद से ही उत्तरी अटलांटिक महासागर के 300 मील के दायरे में खोज अभियान चलाया जा रहा था। इसमें अमेरिकी और कनाडा की नौसेना के अलावा कई प्राइवेट एजेंसियां भी शामिल थीं। इस पनडुब्बी में 96 घंटे का ऑक्सीजन होने का दावा किया जा रहा था, हालांकि विशेषज्ञों को इस दावे पर शुरू से ही शक था।

कैसे डूबी टाइटन पनडुब्बी

मलबे के शुरुआती विश्लेषण से पता चला है कि टाइटन पनडुब्बी विस्फोट के कारण डूब गई थी। ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि विस्फोट इसके उपकरणों या ऑक्सीजन टैंक में हो सकता है। यह पनडुब्बी 4000 मीटर की गहराई तक गोता लगाने में सक्षम थी। इतनी गहराई पर दबाव सतह से 296 गुना ज्यादा होता है। अगर पनडुब्बी बहुत तेजी से नीचे जाए, तब भी विस्फोट की परिस्थिति बन सकती है। ओशनगेट ने भी कहा है कि वह मलबे का विस्तृत विश्लेषण करने के बाद ही दुर्घटना के कारणों का खुलासा कर सकेगी।

कंपनी बोली- मदद करने वालों का शुक्रिया

ओशनगेट कंपनी ने अपने बयान में कहा कि यह हमारे समर्पित कर्मचारियों के लिए बेहद दुखद समय है, जो कि अब थक चुके हैं। वे इस नुकसान पर गहरा शोक मना रहे हैं। कंपनी ने लिखा कि पूरा ओशनगेट परिवार अंततराष्ट्रीय समुदाय के कई संगठनों के अनगिनत पुरुषों और महिलाओं के लिए बहुत आभारी है जिन्होंने व्यापक संसाधनों में तेजी लाई और इस मिशन पर बहुत मेहनत की है।हम इन पांच खोजकर्ताओं को खोजने की उनकी प्रतिबद्धता और हमारे दल और उनके परिवारों के समर्थन में उनके दिन-रात के अथक परिश्रम की सराहना करते हैं।

Related Articles

Back to top button