अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट की पहली अश्वेत महिला जज होंगी केतनजी ब्राउन जैक्सन, सीनेट ने दी मंजूरी

वॉशिंगटन

अमेरिकी संसद की सीनेट ने न्यायाधीश केतनजी ब्राउन जैक्सन को सुप्रीम कोर्ट की न्यायाधीश नियुक्त करने पर मोहर लगा दी है। वह अब उच्चतम न्यायालय की पहली अश्वेत महिला न्यायाधीश बन गई हैं। मतविभाजन में जैक्सन (51) के पक्ष में 53 मत पड़े, जबकि विरोध में 47 मत पड़े। जैक्सन अपीलीय न्यायाधीश रही हैं और उन्हें सघीय पीठ में 9 साल का अनुभव है।  रिपब्लिकन पार्टी के तीन सांसदों को छोड़कर बाकी सीनेटर ने पार्टी लाइन पर मतदान किया। रिपब्लिकन पार्टी की सांसद लीसा मर्कोव्स्की और मिट रोमनी ने सोमवार रात कहा था कि वे न्यायाधीश केतनजी ब्राउन जैक्सन को उच्चतम न्यायालय में भेजे जाने के पक्ष में मतदान करेंगे।

सांसद बोले- बहुत काबिल हैं जैक्सन
अलास्का और ऊटा के सांसदों ने यह घोषणा नामांकन को आगे बढ़ाने के लिए प्रक्रियात्मक मतदान से पहले की थी। रिपब्लिकन सांसद सुसैन कोलिंस ने भी पिछले माह जैक्सन को समर्थन देने की घोषणा की थी। तीनों रिपब्लिकन सांसदों ने हालांकि कहा कि वे जैक्सन के सभी फैसलों से सहमत होने की उम्मीद नहीं करते , लेकिन उन्हें लगता है कि जैक्सन काफी काबिल हैं।
 

जैक्सन हाल में सेवानिवृत्त हो रहे न्यायाधीश स्टीफेन ब्रेयर का स्थान लेंगी। पिछले महीने सीनेट में चार दिनों की सुनवाई के दौरान जैक्सन ने अपने माता-पिता के संघर्ष की कहानी बताई और कहा कि नागरिक अधिकार कानून बनने के बाद उनका 'मार्ग' अपने माता-पिता के मार्ग से अधिक 'स्पष्ट' था। संघीय अपीलीय अदालत की न्यायाधीश जैक्सन (51) थर्गूड मार्शल और क्लेरेंस थॉमस के बाद तीसरी अश्वेत न्यायाधीश होंगी।

Related Articles

Back to top button