Kim Jong ने बाइडेन को खुले में धमकाया, ‘हमारा मिलिट्री ड्रिल अमेरिका के लिए गंभीर चेतावनी है’

कोरिया
उत्तर कोरिया के तानाशाह नेता किम जोंग उन ने सीधे शब्दों में अमेरिका को धमकाया है और कहा है कि, उत्तर कोरिया ने हालिया समय में जितने भी मिलिट्री ड्रिल्स किए हैं, वो अमेरिका के लिए गंभीर चेतावनी है। इसके साथ ही किम जोंग उन ने पिछले दो हफ्तों में एक के बाद एक सात बैलिस्टिक मिसाइल टेस्ट किए हैं और अब उन्होंने अमेरिका को रोकने के लिए अपनी परमाणु क्षमताओं के प्रदर्शन का वादा किया है। उत्तर कोरियाई नेता की ये धमकी अंतर्राष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए गंभीर चेतावनी मानी जा रही है। किम जोंग की गंभीर धमकी उत्तर कोरिया की सरकारी कोरियन सेंट्र्ल न्यूज एजेंसली ने सोमवार को कहा है कि, किम जोंग उन ने कहा कि, 25 सितंबर से उत्तर कोरिया जो लगातार बैलिस्टिक मिसाइल टेस्ट कर रहा है और एक बैलिस्टिक मिसाइल जापान के ऊपर से भी दागा गया था, जो अमेरिका और उसके सहयोगी देशों के लिए गंभीर चेतावनी है।

 उत्तर कोरिया के सैन्य अभ्यास में दक्षिण कोरिया के हवाई अड्डों और अन्य सैन्य ठिकानों पर नकली परमाणु बम गिराने और रॉकेट हमले करना भी शामिल थे। उत्तर कोरिया की सरकारी मीडिया ने इस सैन्य अभ्यास को अमेरिका के नेतृत्व में दक्षिण कोरिया और जापान के संयुक्त सैन्य अभ्यास के खिलाफ एक प्रतिक्रिया बताया है। आपको बता दें कि, पिछले दिनों अमेरिका की उप-राष्ट्रपति कमला हैरिस ने दक्षिण कोरिया का दौरा किया था, जिसके बाद तीनों देशों के बीच नेवी सैन्य अभ्यास शुरू हुआ था। इसके बाद उत्तर कोरिया ने एक के बाद एक सात बैलिस्टिक मिसाइलों के परीक्षण किए हैं और एक बैलिस्टिक मिसाइल तो जापान के ऊपर भी दागा गया था।

जापान को लेकर क्या बोला उत्तर कोरिया समाचार एजेंसी केसीएनए ने कहा कि, 5 अक्टूबर को जापान के ऊपर पश्चिमी प्रशांत क्षेत्र में जो बैलिस्टिक मिसाइल दागी गई थी, वह "नई तरह की जमीन से जमीन पर मार करने वाली मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल" थी। हालांकि, उत्तर कोरिया के इस दावे की पुष्टि नहीं की जा सकी है। हालांकि, अभी तक उत्तर कोरिया ने उन आवश्यक तकनीकों का भी प्रदर्शन नहीं किया है, जिससे पता चल सके, कि उत्तर कोरिया परमाणु बम का टेस्ट करने वाला है। वहीं, अमेरिका और दक्षिण कोरिया ने चेतावनी दी है, कि किम जोंग उन साल 2017 के बाद से अपने पहले परमाणु परीक्षण की तैयारी कर रहे हैं, जो उस क्षमता को साबित करने के लिए आवश्यक होगा।

 उत्तर कोरियाई मीडिया ने अमेरिका को 'गंभीर धमकी' उस वक्त दी है, जब पिछले एक महीने में किम जोंग उन दिखाई नहीं दे रहे थे और ये उत्तर कोरिया के लिए एक आश्चर्यजनक बात है। किम जोंग उन के गायब होने के पीछे उनके स्वास्थ्य खराब होने की अटकलें लगाईं जा रहीं थीं, लेकिन किम जोंग उन जैसे ही मीडिया में आए, उन्होंने अमेरिका को ही गंभीर धमकी देनी शुरू कर दी।
 

Related Articles

Back to top button