चीन में कोरोना से कोहराम, अब तक नहीं मिले थे इतने पॉजिटिव केस; शंघाई में लॉकडाउन

शंघाई।

चीन में बुधवार को 20,000 से अधिक कोरोना के नए मामले सामने आए हैं। महामारी की शुरुआत के बाद से एक दिन में रिपोर्ट की जाने वाले दैनिक मामलों की यह सर्वाधिक संख्या है। शंघाई में लॉकडाउन के बावजूद मामले लगातार बढ़ रहे हैं। इससे चिंता बढ़ गई है।

आपको बता दें कि मार्च तक चीन ने लॉकडाउन, ग्रुप टेस्टिंग और अंतरराष्ट्रीय यात्रा पर सख्त प्रतिबंधों के साथ दैनिक मामलों को कंट्रोल कर रखा था। लेकिन हाल के हफ्तों में इसमें बेतहाशा वृद्धि देखने को मिली है। आपको बता दें कि चीन में बुधवार को संक्रमण के 20,472 केस दर्ज किए गए। हालांकि, राहत की बात यह है कि कसी भी मरीज की जान नहीं गई।
 

शंघाई में क्वारंटाइन सेंटर पर कोविड पॉजिटिव मरीजों की भारी भीड़ है। कोविड-पॉजिटिव शिशुओं और बच्चों को माता-पिता से अलग किया जा रहा है। इस नीति ने पीड़ित परिवारों की चिंता और बढ़ा दी है। अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि चीन के सबसे बड़े शहर शंघाई का कोरोना के राष्ट्रीय आंकड़ों में 80 प्रतिशत से अधिक हिस्सा है। शंघाई के एक शीर्ष अधिकारी ने माना है कि इससे निपटने के लिए अपर्याप्त तैयारी थी।

सीसीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, शंघाई में बुधवार को पूरी आबादी पर नए सिरे से टेस्टिंग की जाएगी। भोजन की कमी और लॉकडाउन के कारण निवासियों में गुस्सा बढ़ रहा है। आपको बता दें कि 2019 के अंत में चीन के वुहान में पहली बार कोरोना वायरस का पता चला था। यह महामारी यहां से पूरी दुनिया में फैल गई। अमेरिकी राष्ट्रपति ने तो इसे चीनी वायरस करार दिया था।

Related Articles

Back to top button