पाकिस्तान दहशतगर्द : मौत बांटने वाले खुद मौत के डर से छुपे ‘बिल में’

Pakistan terrorists: जयशंकर ने आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को कड़ी लताड़ लगाई. यहां तक कि एस जयशंकर ने अमेरिकी नेता हिलेरी क्लिंटन के उस बयान का भी जिक्र किया.

Pakistan terrorists: भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को कड़ी लताड़ लगाई. यहां तक कि एस जयशंकर ने अमेरिकी नेता हिलेरी क्लिंटन के उस बयान का भी जिक्र किया, जब उन्होंने पाकिस्तान में आकर कहा था कि आप अपने घर के बैकयार्ड में सिर्फ यह सोचकर सांप नहीं रख सकते कि वे सिर्फ आपके पड़ोसी को काटेंगे.

वे उन लोगों को भी काटेंगे, जिन्होंने उन्हें पाल रखा है. चाहें 9/11 में अमेरिका को दहला देने वाला ओसामा बिन लादेन हो, या 2008 मुंबई हमलों का मास्टर माइंड हाफिज सईद…सभी को पाकिस्तान पनाह देता रहा है. ओसामा को तो अमेरिकी सुरक्षा एजेंसियों ने पाकिस्तान के ओसामा बिन लादेन को एबटाबाद में ही ढेर किया था. अब पाकिस्तान में आतंक के आकाओं पर ही आत्मघाती हमले होने लगे हैं. इन हमलों ने हाफिज सईद, जैश चीफ मसूद अजहर समेत तमाम बड़े आतंकियों के मन में डर पैदा कर दिया. इसके चलते ये आतंकी अंडरग्राउंड होने को मजबूर हो गए हैं.

आतंक के आकाओं पर ही हो रहे आत्मघाती हमले

पाकिस्तान में पिछले कुछ सालों में आतंकी संगठनों के आकाओं पर कई आत्मघाती हमले हुए. पिछले साल जून में लश्कर चीफ हाफिज सईद के घर के बाहर हमला हुआ था. इसमें तीन लोग मारे गए थे. हालांकि, इस हमले में हाफिज सईद बच गया. लेकिन 3 लोगों की मौत हो गई. जबकि 24 लोग जख्मी हुए थे. पाकिस्तान दावा करता रहा है कि हाफिज सईद लाहौर की कोट लखपत जेल में बंद है. हालांकि, भारतीय खुफिया एजेसियों का दावा है कि वह इस हमले के बाद से अंडरग्राउंड हो चुका है.

सैयद सलाहुद्दीन भी हुआ अंडरग्राउंड

इतना ही नहीं 2020 में 25 मई को हिजबुल मुजाहिदीन के चीफ सैयद सलाहुद्दीन पर हमला हुआ था. यह हमला इस्लामाबाद में उसके आतंकी संगठन के ठिकाने पर हुआ था. इसमें वह घायल हो गया था. इस हमले के बाद से सैयद सलाहुद्दीन अंडरग्राउंड है.

खुले में रैली नहीं कर रहा मसूद अजहर

जैश ए मोहम्मद के चीफ मौलाना मसूद अजहर पर पेशावर में हमला हुआ था. इसके बाद से वह डरा सहमा है. भारतीय खुफिया एजेंसियों के सूत्रों के मुताबिक, मसूद अजहर काफी डरा सहमा है. यहां तक कि वह खुले में रैली करने से भी डर रहा है. यानी पाकिस्तान में पिछले कुछ सालों में लगभग सभी बड़े आतंकी संगठन के आकाओं पर आत्मघाती हमले हो चुके हैं.

पाकिस्तान ने हाफिज के घर पर हमले का आरोप भारत पर लगाया

पिछले साल जून में उसके जोहर में स्थित घर के बाहर ब्लास्ट हुआ था. इसमें तीन लोगों की मौत हो गई थी. जबकि 24 घायल हो गए थे. ब्लास्ट के अफवाह उड़ी थी कि हाफिज सईद उस वक्त घर में मौजूद था. पाकिस्तान की पुलिस के मुताबिक, इस हमले में 200 किलोग्राम विस्फोटक इस्तेमाल किया गया था. यह रिहायशी इलाका था, ऐसे में इस हमले में तमाम घरों को भी नुकसान पहुंचा था. पाकिस्तान ने भारत पर मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड हाफिज सईद के घर के बाहर ब्लास्ट कराने का आरोप लगाया है.

पाकिस्तान के गृहमंत्री राणा सनाउल्लाह खान ने पंजाब काउंटर टेररिज्म के एडिशनल इंस्पेक्टर जनरल के साथ हाल ही में प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी. इस दौरान उन्होंने कहा था कि इस ब्लास्ट का जिक्र करते हुए कहा कि हमारे पास सबूत हैं कि इस हमले के पीछे भारत का हाथ था.

उन्होंने कहा कि हमने दुनिया के सामने अपनी बात रखने का फैसला किया है. सनाउल्लाह ने दावा किया कि विदेश मंत्रालय यह मामला दुनिया के सामने रखेगा क्योंकि इस हमले के दोषी को सबूतों के साथ गिरफ्तार किया गया है. सबूत बताते हैं कि भारत इसमें सीधे तौर पर शामिल था. उन्होंने आरोप लगाया कि भारत पाकिस्तान में बैन तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) का भी समर्थन कर रहा है.

भारत ने दिया मुंहतोड़ जवाब

भारत ने पाकिस्तान के इन आरोपों पर जवाब दिया है. भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा, हमें पता है कि दुनिया पिछले ढाई साल से कोरोना से जूझ रही है. इस दौरान कई यादें थोड़ी धुंधली हो गई है. लेकिन मैं यह कह सकता हूं कि दुनिया यह नहीं भूली है कि आतंकवाद शुरू कहां से होता है और क्षेत्र से बाहर तमाम गतिविधियों पर किसकी छाप नजर आती है.

एस जयशंकर ने कहा कि पाकिस्तान को अपनी गतिविधियों को सुधारना चाहिए और एक अच्छा पड़ोसी बनने की कोशिश करनी चाहिए. भारतीय विदेश मंत्री ने कहा कि दुनिया ‘मूर्ख’ नहीं है और आतंकवाद में शामिल देशों, संगठनों और लोगों को पहचानती है.

Back to top button