स्टेन स्वामी की मौत की स्वतंत्र जांच कराने का प्रस्ताव अमेरिकी संसद में पेश

न्यूयार्क
अमेरिकी संसद में फादर स्टेन स्वामी (Father Stan Swamy) को याद करते हुए उनकी मौत की स्वतंत्र जांच की मांग संबंधी एक प्रस्ताव पेश किया गया है। भारत स्टेन स्वामी के मामले में कानूनी प्रक्रिया का पालन किए जाने की बात कहते हुए अंतरराष्ट्रीय आलोचनाओं को पहले ही खारिज कर चुका है।

2020 में हुई थी गिरफ्तारी  
स्टेन स्वामी को एनआइए ने अक्टूबर 2020 में एलगार परिषद मामले में गैर कानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) के तहत रांची से गिरफ्तार किया था। उन पर 31 दिसंबर, 2017 को पुणे में आयोजित एलगार परिषद में भड़काऊ भाषण देने का आरोप था। इसके अगले ही दिन भीमा कोरेगांव में हिंसा भड़क गई थी। स्टेन स्वामी (84) मुंबई की तालोजा जेल में बंद थे।

पिछले साल हुई थी मौत
दिल का दौरा पड़ने के बाद उन्हें 29 मई, 2021 को मुंबई के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया था। इलाज के दौरान पांच जुलाई को उनकी मौत हो गई थी। वह पार्किसंस समेत कई अन्य बीमारियों से भी पीड़ित थे। अमेरिकी सांसद जुआन वर्गास ने बताया कि उन्होंने स्वामी की याद और उनकी मौत की स्वतंत्र जांच की मांग करते हुए संसद में एक प्रस्ताव पेश किया है। इसे सांसद आंद्रे कार्सन व जेम्स मैकगोवर्न का समर्थन प्राप्त है। प्रस्ताव को अमेरिका की प्रतिनिधि सभा में स्टेन स्वामी की मौत की पहली बरसी पर पेश किया गया।

Related Articles

Back to top button