यूक्रेन के आगे घुटने टेक रहा रूस! पुतिन को खार्किव में मिली भारी शिकस्त, कर दिया शहर में ‘ब्लैकआउट’

कीव
रूस और यूक्रेन के बीच 24 फरवरी से यु्द्ध जारी है। अब रूस कई जगहों पर हार का सामना कर रहा है। वह इससे काफी बौखलाया हुआ है। खबर के मुताबिक इस दौरान रूसी सेनाओं ने यूक्रेन में खार्किव के दो इलाकों पर कब्जा जमा लिया था। अब खबर है कि, रूसी सेना वहां से पीछे हट रही है। यूक्रेन सेना प्रमुख ने कहा था कि, उनकी सेना खार्किव क्षेत्र से रूसी सैनिकों को भगा रही है। यूक्रेन के अधिकारियों ने बताया कि, रूसी सेना अब पीछे हट रही है। इस दौरान यूक्रेनी अधिकारियों ने आरोप लगाया कि, रूस अपनी हार से तिलमिलाया हुआ है और उसकी सेना ने खार्किव में स्थित एक थर्मल पावर स्टेशल सहित नागरिक बुनियादी ढांचे पर जवाबी हमला किया है। इस वजह से इलाके में बड़े पैमाने पर ब्लैकआउट की समस्या उत्पन्न हो गई है। वहीं, रूस ने यूक्रेन के सभी आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए खारिज कर दिया है। उसका कहना है कि रूस सेना ने यूक्रेन के नागरिकों पर हमला नहीं किया है।

यूक्रेन की हार से बौखलाया रूस
रूसी सैनिकों के नागरिकों पर किए जा रहे हमलों को लेकर यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की ने ट्विटर पर ट्वीट किया, 'कोई सैन्य सुविधा नहीं, लोग अंधेरे और गर्मी से परेशान हैं।'वहीं, दूसरी तरफ यूक्रेन में अमेरिकी राजदूत ब्रिजेट ब्रिंक ने भी यूक्रेन के खार्किव में हुए हमलों की कड़ी निंदा की है। दूसरी तरफ जेलेंस्की ने छह महीनों से चली आ रही भीषण जंग के बाद मिल रही सफलता का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि, अगर कीव को और भी अधिक शक्तिशाली और घातक हथियार मिलते हैं तो सर्दियों में इससे बड़ी सफलता मिलेगी।

यूक्रेन अपने इलाके को रूस से छीन रहा है
यूक्रेन के मुख्य कमांडर जनरल वेलेरी जालुज्नी ने कहा कि सशस्त्र बलों ने इस महीने की शुरुआत से 1,158 वर्ग मील से अधिक पर फिर से नियंत्रण हासिल कर लिया है। जेलेंस्की ने रविवार देर रात कहा कि रूसी हमलों के कारण खार्किव और डोनेट्स्क क्षेत्रों में पूरी तरह से ब्लैकआउट हो गया, और ज़ापोरिज्जिया, निप्रॉपेट्रोस और सूमी क्षेत्रों में ब्लैकआउट हो गया। बता दें कि उत्तर-पूर्वी खारकीव क्षेत्र में रूस के कब्जे वाले क्षेत्रों को दोबारा अपने नियंत्रण में लेने के लिए यूक्रेन सैनिकों ने जवाबी कार्रवाई करते हुए रूस को अपने सैनिकों को हटाने पर मजबूर कर दिया।

 

Related Articles

Back to top button