हिटलर को लेकर दिए बयान पर फंसा रूस, इजरायल बोला- आपने भयानक ऐतिहासिक गलती कर दी

 कीव
 
जर्मन तानाशाह हिटलर को लेकर रूसी मंत्री द्वारा दिए गए एक बयान के बाद रूस बुरी तरह फंसता नजर आ रहा है। इजरायल और यूक्रेन ने रूस को लताड़ लगाई है। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोडिमिर जेलेंस्की ने सोमवार को अपने दैनिक संबोधन में एक बार फिर से रूस को खूब खरी खोटी सुनाई। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि रूस दूसरे विश्व युद्ध के सबक भूल गया है। जेलेंस्की ने कहा, "मेरे पास कोई शब्द नहीं है… मॉस्को से किसी ने किसी तरह की प्रतिक्रिया नहीं सुनी। वहां केवल चुप्पी है … इसका मतलब है कि रूसी नेतृत्व द्वितीय विश्व युद्ध के सभी सबक भूल गया है। या शायद उन्होंने कभी वे सबक सीखे ही नहीं।”

क्यों भड़के जेलेंस्की?
रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव ने एक इतालवी समाचार चैनल के साथ साक्षात्कार में कहा था कि यूक्रेन में अब भी कुछ नाजी हो सकते हैं, भले ही देश के राष्ट्रपति (वोलोदिमिर जेंलेंस्की) सहित कुछ लोग यहूदी हों। लावरोव ने कहा था, "जब वे कहते हैं कि अगर हम यहूदी हैं तो नाजीकरण कैसे हो सकता है?" मेरी राय में, हिटलर भी यहूदी मूल का था, इसलिए इसका कोई मतलब नहीं है। कई बार हमने यहूदी लोगों से सुना है कि यहूदियों के सबसे बड़े दुश्मन यहूदी ही थे।"

रूस के विदेश मंत्री द्वारा हिटलर को यहूदी बताए जाने को लेकर दुनिया में काफी आलोचना हो रही है। यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने भी कहा है कि एडोल्फ हिटलर और यहूदियों के बारे में उनके रूसी समकक्ष की हालिया टिप्पणी यहूदियों के प्रति रूस के कुलीन वर्ग के मन में व्याप्त घृणा के भाव को दर्शाती है।
 
लावरोव के बयान पर इजराइल ने रूस की निंदा की
इजराइल ने सोमवार को रूस के विदेश मंत्री की नाजीवाद संबंधी और यहूदी विरोधी उस "अक्षम्य" टिप्पणी की निंदा की जिसमें दावा किया गया था कि एडोल्फ हिटलर यहूदी था। इजराइल ने इस टिप्पणी को लेकर रूस के राजदूत को तलब किया और कहा कि टिप्पणी में आरोप लगाया गया है कि यहूदी अपने ही नरसंहार में शामिल थे।

यह घटनाक्रम ऐसे समय दोनों देशों के बीच बिगड़ते संबंधों का संकेत है जब इजराइल ने रूस-यूक्रेन युद्ध में खुद को तटस्थ रखने का प्रयास किया है। इजराइल के विदेश मंत्री यायर लापिड ने लावरोव के बयान को "अक्षम्य और निंदनीय तथा भयानक ऐतिहासिक त्रुटि" करार दिया।

हिटलर द्वारा किए गए नरसंहार को देखने वाले एक व्यक्ति के पुत्र लापिड ने कहा, ‘‘नरसंहार में यहूदियों ने खुद ही खुद की हत्याएं नहीं कीं। यहूदियों के प्रति भेदभाव के लिए यहूदियों को ही जिम्मेदार ठहराने की टिप्पणी नस्लवाद की निम्नतम स्तर की टिप्पणी है।’’ इजराइल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट ने भी लावरोव की टिप्पणियों की निंदा की और कहा, ‘‘उनके (लावरोव) के शब्द असत्य हैं और इरादे गलत हैं।’’यूक्रेन की सेना ने सोमवार को कहा कि रूस ने अपनी कुछ टुकड़ियों को मारियुपोल बंदरगाह से हटाकर पूर्वी हिस्से में तैनात किया है, जिसका मकसद इस क्षेत्र में संघर्ष को तेज करना है।

यूक्रेनी सेना ने कहा कि रूसी बलों की कुछ टुकड़ियों को मारियुपोल से हटाकर पूर्वी लुहांस्क प्रांत के पोपास्ना शहर को भेजा गया। यूक्रेन के पूर्वी हिस्से में स्थित पोपास्ना वर्तमान में संघर्ष के उन क्षेत्रों में शुमार है, जहां रूसी सेना यूक्रेनी बलों को पीछे हटाने के लिए आक्रामक रुख अपनाये हुए है। यूक्रेनी सेना के विश्लेषक ओलेह ज़दानोव ने कहा कि मारियुपोल से कुछ सैनिकों को हटाकर पूर्वी हिस्से में भेजना, उसका वहां कोई भी बढ़त लेने में असफलता दर्शाता है।

'कई आम नागरिक मारे गए हैं'
यूक्रेन के अधिकारियों का कहना है कि रूसी की तरफ से हुई ताजा बमबारी में कई आम नागरिक मारे गए हैं। यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की के कर्यालय ने सोमवार को कहा कि पिछले 24 घंटे के दौरान पूर्वी लुहांस्क प्रांत में कम से कम तीन आम नागरिकों की मौत हो गई जबकि एक बच्चे समेत तीन लोग घायल हुए।

 

Related Articles

Back to top button