यूक्रेन कर रहा काला जादू, मंत्र से शक्तियों का कर रहा आह्वान, युद्ध के बीच रूस ने दिखाए शैतानी निशान

मॉस्को
यूक्रेन पर सैन्य आक्रमण करने वाले रूस को अब काला जादू का डर सता रहा है और रूस की सरकारी मीडिया ने दावा किया है कि, यूक्रेन के सैनिक रूस के खिलाफ काला जादू कर रहे हैं और भूतिया शक्तियों का इस्तेमाल कर रहे है। रूस की सरकारी मीडिया के दावे इतने भर ही नहीं हैं। दावा किया गया है कि, ऐसे संकेत मिले हैं कि, यूक्रेनी सैन्य मुख्यालयों में काला जादू का अभ्यास किया गया है।

 
यूक्रेन पर काला जादू का आरोप
रूस के सरकारी टीवी चैनल ने यूक्रेन पर शैतानी शक्तियों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाते हुए दावा किया है कि, 'एक शैतानी मुहर, जो अलौकिक शक्तियं से संबंध रखने का एक प्रतीक माना जाता है, उसे रूसी सैनिकों के खिलाफ इस्तेमाल किया गया है।' रूसी मीडिया ने दावा किया है कि, पूर्वी यूक्रेन के लुहान्स्क क्षेत्र में ट्रेखिज़बेंका गांव के बाहरी इलाके में एक निर्जन यूक्रेनी सैन्य अड्डे की दीवार पर 'शैतानी मुहरों' के निशान पाए गये हैं।
 

रूसी मीडिया का सनसनीखेज दावा
डेली मेल की रिपोर्ट के मुताबिक, रूसी समाचार एजेंसी आरआईए नोवोस्ती ने दावा किया कि है शैतानी मुहर वाला प्रतीक के साथ खून के कई अलग आकृतियां बनी मिली हैं। जो इस बात की तरफ इशारा करती हैं, कि यूक्रेनी सैनिकों ने काले जादू का अभ्यास किया है। समाचार एजेंसी का दावा है कि 'शैतान के शिष्यों ने अपने हथियारों को सम्मोहित करने के लिए और उन्हें पवित्र करने के लिए खून के निशान बनाए हैं, ताकि जब यूक्रेनी सैनिकों के हथियार अपने टारगेट से टकराए, तो वो ज्यादा से ज्यादा नुकसान पहुंचाए और तबाही मचाए।
 
‘फासीवाद का प्रतीक जादुई मुहर’
रूसी संस्कृतिविद् और दार्शनिक एकातेरिना डाइस ने दावा किया है कि, कई प्रतीक, जो यूक्रेनी सैन्य ठिकानों पर मिले हैं, उन्हें काली स्याही या स्प्रे से रंगा गया था और ये एक तरह का 'अंधेरी शक्तियों की जादुई मुहर' थी जो अराजकता, हथियारों और फासीवादी प्रतीकों के विचारों को जोड़ती है। डेस ने दावा किया कि, इन चिन्हों के रचनाकारों ने अपने हथियारों को मजबूत करने के लिए 'अनुष्ठान किया' या अलौकिक शक्तियों को हथियार भेजने के लिए कहा।

 

Related Articles

Back to top button