रूस और यूक्रेन जंग में पुतिन की सेना पर भारी पड़ रहे जेलेंस्की के सैनिक

कीव । रूस और यूक्रेन के बीच जंग को 39 दिन पूरे हो चुके हैं। पुतिन की सेना अब इस युद्ध में बैकफुट पर है। यूक्रेन की राजधानी कीव अभी भी जेलेंस्की सरकार के नियंत्रण में है। रूस के बर्बर हमलों के बीच यूक्रेन के उप रक्षा मंत्री ने कहा है कि यूक्रेन ने 'पूरे कीव क्षेत्र' को रूसी सैनिकों से वापस ले लिया है। सोशल मीडिया पर अपने बयान में हन्ना मालियरी ने कहा, 'इरपिन, बुका, गोस्टोमेल और पूरे कीव को आक्रमणकारियों से आजाद करा लिया गया है।'

डेलीमेल की खबर के अनुसार कीव के बाहरी शहर इरपिन और बुका को इस हफ्ते यूक्रेनी सेना ने वापस ले लिया। दोनों शहरों में भारी तबाही हुई और बड़ी संख्या में लोग मारे गए। बुका के मेयर ने कहा कि 280 लोगों को सामूहिक कब्र में दफनाया गया है और सड़कों पर लाशें बिखरी पड़ी हैं। इरपिन में कम से कम 200 लोग मारे गए हैं। यूक्रेन ने कहा कि रूस उत्तरी क्षेत्रों से पीछे हट रहा है और ऐसा प्रतीत होता है कि वह देश के पूर्व और दक्षिण पर फोकस कर रहा है।

कीव की सड़कें बनीं रूसी टैंकों का कब्रिस्तान
रूस को यूक्रेन में कड़े प्रतिरोध का सामना करना पड़ रहा है। कीव के बाहरी इलाकों की सड़कें अब पुतिन के टैंकों का कब्रिस्तान बन चुकी हैं। रूसी बख्तरबंद वाहन भी मलबे में तब्दील हो चुके हैं। जेलेंस्की की सेना न सिर्फ रूसी सैनिकों को पीछे हटा रही है बल्कि कई सड़कों और बस्तियों को भी वापस अपने कब्जे में ले रही है। रूसी सेना से बुका को वापस लेने के बाद यूक्रेनी सैनिकों को एक सड़क पर नागरिकों के कपड़ों में 20 पुरुषों के शव मिले थे।

चेरनोबिल परमाणु संयंत्र पर यूक्रेन का कब्जा
रिपोर्ट के मुताबिक प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि शवों में से एक के हाथ बंधे हुए थे। शहर की सड़कों पर लाशें बिखरी हुई थीं जो कभी 28,000 लोगों का घर था। रूसी सैनिकों के पीछे हटने के बाद जेलेंस्की की सेना ने चेरनोबिल परमाणु संयंत्र पर वापस अपना नियंत्रण हासिल कर लिया है। यूक्रेन की परमाणु एजेंसी ने बताया कि संयंत्र के ऊपर राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया और राष्ट्रीय गान गाया गया।

Related Articles

Back to top button