काली जुबान होना अपशकुन नहीं बल्कि एक बीमारी है, जानिए इसके कारण और बचाव

काले बालों वाली जीभ या काली जुबान देखकर अक्‍सर लोग डर जाते हैं। उन्‍हें डर लगता है कि कहीं उनक‍ी कही बात उन्‍हें लेकर सच ना हो जाएं। अक्सर जब किसी की कही कोई बात सच हो जाती है तो लोग उसे काली जुबान का कहते हैं। लोग इसे बहुत ही अशुभ मानते है, ये तो हो गई कहने और सुनने वाली बात।

अगर आप किसी काली जुबान वाले शख्‍स को देखते है तो इसमें घबराने वाली कोई बात भी नहीं है न ही इस चीज का किसी बुरी बला या अशुभ होने से लेना देना है। आपको जानकर अचरज होगा कि काली जुबान होना एक बीमारी वो दुलर्भ ये सेहत से जुड़ी एक समस्या का संकेत है, आइए जानते है इससे जुड़ी और भी बातें।

कैंसर या डायबिटीज के लक्षण
काले धब्‍बे या काले बालों वाली जीभ काफी नुकसानदेह साबित हो सकती है। यह कैंसर और डायबिटीज के लक्षण हो सकते हैं। इसके अलावा मुंह में बैक्टीरिया फैलने की वजह से भी जीभ का रंग काला हो जाता है।

पुरुषों में अधिक पाई जाती है
काली बालों वाली जीभ एक छोटे से स्थान के रूप में शुरू हो सकती है और जीभ के ऊपर के अधिकांश कोट को बढ़ा देती है यह मृत त्वचा कोशिकाओं के एक ढ़ेर के रुप में इक्‍ट्ठी होती जाती है। ये बीमारी महिलाओं की तुलना में पुरुषों को अधिक होती है। दुनियाभर में 06 से 13 प्रतिशत लोग इस बीमारी से जूझ रहे हैं।

काली जीभ होने के कारण
काली जुबान या काली जीभ आमतौर पर जब मुंह में पाया जाने वाला पैप‍िल (papillae) पर इक्‍ट्ठी होने लगती है। जिस वजह से बैक्‍टीरिया और मृत कोशिकाएं इस पैपिल पर इक्‍ट्ठे होने लगती है। जिसकी वजह से जीभ का रंग काला होने के अलावा इसमें बाल नजर आने लगते है। जो देखने में बहुत ही भद्दे से नजर आते है। आइए जानते है जीभ काली होने के पीछे कुछ आम सी वजहें हो सकती हैं।

    मुंह की सफाई के प्रति ध्‍यान न देना।
    धूम्रपान करना।
    बहुत ज्यादा कैफीन का सेवन और
    दांतों की साफ-सफाई नहीं करने की वजह से भी हो सकता है।
    पैराक्‍साइड जैसे माउथ वॉश का लगातार इस्‍तेमाल।
    लगातार डिहाइड्रेशन जैसे मुंह का सूखना।

गाढ़ी परत जमने न दें
अगर आपकी जीभ पर पीले रंग की गाढ़ी परत जमती जा रही है और आपको लगता है कि इसकी वजह से आपके मुंह का स्‍वाद भी बदल रहा है तो आपको ओरल हाईजीन पर विशेष ध्‍यान देने की जरुरत है। रोजाना जीभ को साफ करें और जीभ पर गाढ़ी परत न जमने दें। बैक्‍टीरिय के जमाव के वजह से ही जीभ के ऊपर इस तरह की गाड़ी परत जमा होकर काले दानों का रुप लेनी लगती है।

ओरल हाईजीन पर ध्‍यान दें
इस बीमारी का वैसे कोई चिकित्‍सीय हल नहीं है। लाइफस्‍टाइल को बदलकर आप इस समस्‍या को काफी हद तक खत्‍म कर सकते हैं।

    तम्बाकू, धूम्रपान और बहुत ज्यादा कॉफी से परहेज करना चाह‍िए।
    हल्के गर्म पानी से अपनी जीभ को रोज साफ करें।
    टंग क्लिनर का इस्तेमाल करें।
    इसके अलावा डॉक्‍टर से नियमित चैकअप जरुर कराए।
    अगर आपको लगता है कि किसी विशेष दवा की वजह से आपकी जीभ काली होती जा रही है तो इसे आज ही छोड़ दें।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button