कॉन्डम के साथ सेक्स को करें इंजॉय

किसी भी तरह के इंफेक्शन और अनचाहे गर्भ के साथ ही अच्छे सेक्शुअल हेल्थ के लिए भी सेक्स के दौरान कॉन्डम का इस्तेमाल बेहद जरूरी है। लेकिन अगर आप सही कॉन्डम और सही साइज का कॉन्डम यूज नहीं कर रहे हैं तब भी आपको कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। अगर आप बड़े साइज का कॉन्डम यूज करेंगे तो यह बाहर आ जाएगा और छोटे साइज का कॉन्डम इंटरकोर्स के दौरान फट जाएगा। ऐसे में कॉन्डम के साथ सेक्स को इंजॉय कैसे किया जाए यहां जानें…

गलत साइज से होगी असुविधा
सेक्स के दौरान किसी भी तरह के गर्भनिरोधक का इस्तेमाल जरूरी है और कॉन्डम दुनियाभर में यूज होने वाला कॉन्ट्रसेप्शन का सबसे पॉप्युलर, सस्ता और सुविधाजनक तरीका है। लेकिन यह जानना बेहद जरूरी है कि अगर आप गलत साइज के कॉन्डम का इस्तेमाल करते हैं तो इससे न सिर्फ आपको असुविधा महसूस होगी बल्कि अनचाहे गर्भ और STD इंफेक्शन का खतरा भी रहेगा। लिहाजा सही साइज चुनना जरूरी है।

एक साइज सबके लिए नहीं
कपड़ों और जूतों की फिटिंग की ही तरह गर्भनिरोधक के इस्तेमाल के दौरान भी साइज अहमियत रखता है। बाजार में बिकने वाले कॉन्डम्स आमतौर पर स्मॉल, मीडियम, लॉन्ग और स्लिम टाइप के होते हैं। यहां ध्यान देने वाली बात यह है कि एक ही साइज सबको फिट हो जाएगा का फंडा यहां नहीं चलता। मीडियम साइज का एक कॉन्डम भी अलग-अलग लोगों के लिए अलग-अलग हो सकता है। बावजूद इसके अगर आप साइज को लेकर आश्वस्त नहीं है तो अलग-अलग साइज ट्राई करें और जो फिट लगे उसे ही यूज करें।

ऐसे चुनें सही साइज
सही साइज का कॉन्डम चुनने से पहले अपने ऑर्गन का साइज नाप लें। डॉक्टर्स और एक्सपर्ट्स की मानें तो आप नॉर्मल मेजरिंग टेप का इस्तेमाल कर अपने प्राइवेट पार्ट की लंबाई और मोटाई नाप सकते हैं। साथ ही कॉन्डम यूज करते वक्त इस बात का ध्यान रखें कि यह आपके ऑर्गन से अच्छी तरह से चिपक जाए और बाहर निकालते वक्त फटे ना।

अलग-अलग स्टाइल ट्राई करें
कॉन्डम न सिर्फ अलग-अलग साइज बल्कि अलग-अलग स्टाइल और वैरियंट में मिलते हैं और यह पूरी तरह से आपके चॉइस पर निर्भर करता है कि आप कौन सा कॉन्डम यूज करना चाहते हैं। मार्केट में मौजूद सबसे पॉप्युलर कॉन्डम वैरियंट की बात करें तो रिब्ड, डॉटेड, फ्लेवर्ड और नॉन फ्लेवर्ड कॉन्डम्स की बिक्री सबसे ज्यादा होती है जो आपके सेक्शुअल एक्सपीरियंस को और बेहतर बना सकता है।

मटीरियल का भी रखें ध्यान
वैसे तो कॉन्डम लैम्बस्किन, सिलिकॉन, लैटेक्स और पोलिथेरॉन जैसे अलग-अलग मटीरियल से बनता है लेकिन कॉन्डम खरीदते वक्त आपको इस बात का भी ध्यान रखना चाहिए कि यह किस मटीरियल का बना है और कहीं आपको इनमें से किसी मटीरियल से ऐलर्जी तो नहीं है। अगर ऐसा है तो वैसे मटीरियल वाला कॉन्डम ही चुनें जो आपको सूट करे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button