गीले मोजे पहनने के है कई फायदे, जुकाम भगाएं और अच्‍छी नींद सुलाएं

कभी आपने गीले मोजे पहने हैं? गलती से एक आधा बार पांव में गीला मोजा पहन लिया हो तो आपको याद होगा कि कितना असहज सा लगता है। लेकिन शायद आपको मालूम नहीं होगा कि गीले मोजे पहनने के स्‍वास्‍थय को कई फायदे होते हैं। सुनकर आपको यकीन नहीं हो रहा होगा न लेकिन ये सच है। मोजे पहनकर सोने और गीले मोजे पहनने से कई तरह की बीमारियां कटती है।

यह तेज बुखार को कम करने से लेकर पेट की समस्या से राहत दे सकता है। अगर आपको जुकाम हुआ है तो गीले मोजे पहन लीजिए और फिर देखिए चमत्कार। जान‍िए गीले मोजे पहनने से होने वाले फायदों के बारे में।

मेनोपॉज में हॉट फ्लश की नहीं होगी समस्‍या
कई सारी मह‍िलाएं मेनोपॉज के दौरान हॉट फ्लश यानी अत्‍यधिक गर्मी की समस्‍या से गुजरती है। उन्‍हें अचानक से गर्मी लगने लग जाती है। अधिक पसीना आने लगता है चेहरे पर अचानक गर्म थपेड़ों सा महसूस होने लगता है। इस स्थिति में गीले मोजे पहनने से राहत मिलती है। गीले मोजे शरीर का तापमान सामान्‍य बनाए रखने में मदद करता है। हॉट फ्लश हार्मोनल बदलाव के वजह से होते हैं। जिसकी वजह से शरीर का तापमान प्रभाव‍ित होता है।

पेट की समस्या में राहत
यदि आपका पेट बार-बार खराब होता है या कब्‍ज और दस्‍त जैसी समस्‍या है तो आप काले जीरे तथा सौंफ को सामान मात्रा में पानी में मिलाकर उसको 10 मिनट तक उबाल लें। अब इस पानी में अपने मोजे गीले कर लें। इस गीले मोजे को पहन कर थोड़ी देर सो जाएं। इस उपाय से आपके पेट की समस्या दूर हो जाएगी।

जुकाम होता है दूर
यदि किसी को जुकाम की समस्या है तो आप दूध में एक चम्मच प्याज तथा शहद का रस मिला दें। इसमें मोजे गीला कर लें। इसके बाद आप मोजों को निचोड़ कर मरीज को पहना दें। ऐसा करने से जुकाम जल्दी ठीक हो सकता है। इस प्रकार से गीले मोजे पहनना हमारी सेहत के लिए बहुत सही और सुरक्षित साबित हो सकता है। आप भी इन उपायों को आजमा कर देखें, लाभ जरूर होगा।

बुखार
अगर घर में किसी को तेज बुखार चढ़ा हुआ हो तो उसे सिरके वाले पानी में मोजो को भीगाकर उसमें से अतिरिक्‍त पानी निचोड़ कर बुखार से पीडि़त व्‍यक्ति को मोजे पहना दें। बुखार जल्द ठीक हो जाएगा।

अच्‍छे सेक्‍स के ल‍िए
2005 में हुई एक स्‍टडी के अनुसार जो लोग बेड पर मोजे पहनकर सोते है, उन्‍हें जल्‍दी ऑर्गेज्‍म मिलता है। ये रिसर्च करीब 13 कपल्‍स भी करवाया गया था।

आती है अच्‍छी नींद
किसी व्‍यक्ति का टेम्‍परेचर उसके बायोलॉजिकल क्‍लॉक पर निर्भर करता है। जिसे सर्कडियन लय भी कहा जाता है। सर्कडियन लय ही आपके सोने के समय पर नियंत्रण करता है। ये ही जो आपको सुबह सोने से बचाता है और रात को आपको गहरी नींद महसूस कराता है। अगर कोई व्‍यक्ति रात को मोजे पहनकर सोता है तो इसका फर्क बॉडी टेम्‍परेचर पर भी पड़ता है। बॉडी के अच्‍छे टेम्‍परेचर से आपको नींद भी अच्‍छी आती है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button