पीठ के मुंहासों से पाएं आजादी, इन घरेलू उपायों मिटा दे से बैक्‍ने का नामों न‍िशान

जिस तरह से चेहरे पर होने वाले मुंहासों को एक्ने बोला जाता है। ठीक उसी तरह पीठ पर होने वाले मुंहासों को बैक्ने बोला जाता है। पीठ पर होने वाले मुंहासे व दाग धब्बों को अक्‍सर हम इग्‍नोर कर देते हैं। लेकिन गर्मियों में जब पसीना व धूल मिट्टी हमारे बदन पर पड़ती है तब ये मुंहासे और भी भंयकर दिखने लगते हैं।

पीठ में होने वाले मुंहासों से अक्सर सबसे ज्यादा परेशानी महिलाओं को होती है। पीठ के रोमछिद्र चेहरे के मुकाबले अधिक मोटे होते हैं। आइये जानते हैं कैसे आप आसान घरेलू तरीकों से पीठ से दाग-धब्बे और मुंहासों से निजाता पा सकते हो।
बैक्‍ने होने के मुख्‍य कारण:

    पौष्टिकता की कमी
    अधिक मात्रा में मिर्च मसालों का सेवन
    गर्भावास्था के बाद हार्मोंस में आए बदलाव
    मासिक धर्म की वजह से
    मानसिक तनाव का होना आदि।

दालचीनी
पीठ को एकदम साफ और सुंदर बनाती है दालचीनी। दालचीनी के पाउडर को पुदीने के रस को मिला लें। या कच्‍चे दूध के साथ मिलाकर इसे पूरी पीठ पर लगाएं। जब यह सूख जाए तब ठंडे पानी से पीठ को धो लें।

कच्चा दूध
पीठ को पहले किसी कपड़े से साफ कर लें। अब कच्चे दूध में थोड़ा जायफल को मिला कर पेस्ट तैयार कर लें। और इसे पूरी पीठ पर लगा लें। कम से कम दो घंटे तक इसे एैसा ही रहने दें। बाद में ठंडे पानी से पीठ धो लें

ढीलें और खुले कपड़े पहनें
क्‍या आप जानती है कि आपकी फेवरेट बॉडीकॉन ड्रेस की वजह से भी मुंहासों की समस्‍या होती है। जी हां, आपने सही सुना टाइट और फिटेड ड्रेस पहनने की वजह से आपके पीठ पर मुंहासों हो सकते हैं। अगर बैक्‍ने की समस्‍या से पीडि़त है तो कोशिक करें कि आप घर पर तंग कपड़ों की बजाय खुले और ढीलें कपड़े पहनें।

सोते हुए ध्‍यान रखें
जब पीठ पर मुंहासें व धब्बे हों तो कोशिश करें कि आप सूती कपड़े पहनें। बेड शीट को हर तीन दिन में बदलें। पीठ के बल ज्यादा ना सोएं। कोशिश करें करवट बदलकर सोने की।

पौष्टिक आहार
आपको अपने खाने में अधिक से अधिक फल और सब्जियों का इस्तेमाल करना है। साथ ही साथ जूस का भी सेवन करना है। संतरा, ग्रीन टी, नींबू, शहद का पानी, और सब्जियों का रस आदि का सेवन बदल बदल कर करते रहें।सबसे जरूरी बात पानी की मात्रा अधिक से अधिक लें।

नियमित एक्स्फोल‍िएशन करें
पीठ के एक्‍ने होने का मुख्‍य कारण है छिद्रित छिद्र। जिस तरह आपके चेहरे पर तेल जम जाता है उसी तरह पीठ पर भी पसीने और तेल की परत जम जाती है। अतिरिक्त तेल स्राव (सीबम ) बैक्‍ने की सम्‍भावनाओं को बढ़ा देता है। नियमित स्‍क्रब एक्स्फोलिएशन करने से त्‍वचा पर जमी पसीने और तेल की परत हटती है और इससे ज्‍यादा मात्रा में मुंहासे नहीं होते है। सप्‍ताह में एक बार त्‍वचा को एक्‍सफ्लोइट करना चाह‍िए।

गुलाबजल और मुल्‍तानी मिट्टी
ये बैक्‍ने हटाने का सबसे कारगर उपाय हैं। गुलाब जल में फिर फिर उपर से इसमें थोड़ी ग्लिसरीन को भी मिला लें। अब आप इस पेस्ट को पीठ पर रात को सोने से पहले लगाएं। और सुबह के समय ठंडे पानी से स्नान कर लें। इस उपाय से आपको बहुत जल्दी फर्क महसूस होने लगेगा।

नारियल का पानी
पीठ को बेदाग करने के लिए नारियल पानी भी काफी कारगर साबित होता है। कच्चे नारियल का पानी अपनी पीठ पर रोज रात को लगाएं और सुबह उठकर धो लें। इससे कुछ ही दिनों में दाग-धब्बे साफ हो जाएंगे।।

एलोवेरा का पेस्ट
आप सबसे पहले एलोवेरा के पेस्ट को निकाल कर एक कटोरी में भरें। और फिर बाद में टमाटर के गूदे को एलोवेरा पेस्ट में डालकर मिक्स कर लें। अब इस पेस्ट को पीठ पर कम से कम आधे घंटे के लिए लगाकर छोड़ दें। और बाद में ठंडे पानी से अपनी पीठ को साफ कर लें। इस उपाय से बहुत ही जल्दी आपकी पीठ मुहांसों और धब्बों से मुक्त हो जाएगी।

जौ का पैक
जौ के पाउडर का इस्तेमाल करके भी पीठ के मुंहासों और धब्बों से निजात पा सकते हैं। इसके लिए आप जौ के बने हुए आटे को पका दें और फिर इसमें उपर से शहद को मिला लें। जब यह ठंडा हो जाए फिर इसे अपनी पीठ पर बीस मिनट के लिए लगाकर छोड़ दें। और बाद में गुनगुने पानी से पीठ साफ कर लें।

वर्क आउट के बाद शॉवर लें
जैसे कि पहले बताया कि पसीने की वजह से मुंहासों की समस्‍या बढ़ती है। जब आप खुद की बॉडी को मैंटेन करने पर ध्‍यान देते है तो अपनी तरफ ध्‍यान देना न भूलें। आप इस बात को सुनिश्चित कर लें कि पोस्‍ट वर्कआउट के बाद शॉवर जरुर लें। अगर आप ऐसा नहीं करते है तो बैक्‍ने के ल‍िए तैयार रहें।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Join Our Whatsapp Group