शरीर के सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक है लिवर

एक स्वस्थ व्यक्ति के लिवर का वजन लगभग एक से डेढ़ किलोग्राम होता है। यह हमारे शरीर के सबसे महत्वपूर्ण अंगों में से एक होता है। यह शरीर के कई जरूरी कामों जैसे पाचन, मेटाबॉलिज्म, इम्यूनिटी और पोषक पदार्थों के स्टोरेज में बड़ी भूमिका निभाता है। लिवर हमारे रक्त की संचरना को नियंत्रित करता है, उसमें से हानिकारक विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है और आंतों के द्वारा भोजन में से अवशोषित किये गए पोषक पदार्थों को शरीर के उपयोग करने लायक बनाता है। अनहेल्दी खानपान और ख़राब जीवनशैली की वजह से लिवर पर काम का लोड बढ़ता है, जिससे यह विषाक्त पदार्थों और फैट को ठीक से प्रोसेस नहीं कर पाता। इसके कारण शरीर में मोटापा, दिल की बीमारी, लंबी थकान, सिरदर्द, पाचन में गड़बड़ी, ऐलर्जी और अन्य बीमारियां हो सकती हैं। ऐसे में लिवर को साफ, ऐक्टिव और विषाक्त पदार्थों से रहित बनाने के लिए इन चीजों को खाएं…

लिवर को साफ करने में मदद करता है लहसुन
लिवर को साफ करने में लहसुन काफी लाभकारी होता है। यह लिवर में एंजाइम्स को ऐक्टिवेट करने में मदद करता है, इससे विषाक्त पदार्थों को साफ करने में मदद मिलती है। साथ ही इसमें एलिसिन और सेलेनियम नामक दो नैचरल कंपाउंड पाए जाते हैं, जो लिवर-क्लीनिंग प्रोसेस को बढ़ाते हैं। इसके अलावा, लहसुन कलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड लेवल्स को कम करता है। यह दोनों लिवर को ओवरलोड करते हैं।

लिवर को डीटॉक्स करता है चकोतरा
चकोतरा में भरपूर मात्रा में विटमिन-सी, पेक्टिन और ऐंटीऑक्सिडेंट्स पाए जाते हैं, जो लिवर क्लीनिंग प्रोसेस में मदद करते हैं। साथ ही, इसमें ग्लूटेथिओन नामक शक्तिशाली ऐंटिऑक्सिडेंट पाया जाता है, जो फ्री रैडिकल्स को बेअसर करता है और लिवर को डीटॉक्सीफाई करता है। ग्लूटेथिओन हैवी मेटल्स के डिटॉक्सिफिकेशन में भी मदद करता है।

नैचरल ब्लड प्योरिफायर है चुकंदर
चुकंदर भी लिवर को साफ करने और और इसके कामकाज को बढ़ाने में काफी मददगार फल होता है। इसमें अत्यधिक मात्रा में प्लांट फ्लावनॉयड्स और बीटा-कैरोटीन पाए जाते हैं, जो लिवर के पूरे कामकाज को ठीक करते हैं। साथ ही चुकंदर प्राकृतिक ब्लड प्योरिफायर होता है। अपने भोजन में ताजा चुकंदर या इसके जूस को शामिल करें।

एंजाइम्स को ऐक्टिवेट करता है नींबू
नींबू पानी भी लिवर को साफ करने में मदद करता है, क्योंकि इसमें डी-लाइमोनीन ऐंटिऑक्सिडेंट होता है जो लिवर में डिटॉक्सिफिकेशन को बढ़ाने वाले एंजाइम्स को ऐक्टिवेट करने में मदद करता है। नींबू में अत्यधिक मात्रा में विटमिन-सी पाया जाता है, जो लिवर को पाचन बढ़ाने वाले एंजाइम्स को ज्यादा प्रड्यूस करने में मदद करता है। नींबू लिवर की खनिज अवशोषण की क्षमता को भी बढ़ाता है।

डैमेज सेल्स के पुनर्निमाण को बढ़ाती है हल्दी
हल्दी भी लिवर को साफ करने में कारगर साबित होती है। साथ ही, यह शरीर की फैट डाइजेस्ट करने की क्षमता को बढ़ाती है। हल्दी में करकुमीन नामक कंपाउंड पाया जाता है जो लिवर में एक विषहरण एंजाइम के फॉर्मेशन को बढ़ावा देती है। यह लिवर में डैमेज सेल्स के पुनर्निर्माण को भी बढ़ावा देती है। एक गिलास पानी में एक चौथाई चम्मच हल्दी डालकर गर्म करें। इसका सेवन रोज दिन में 2 बार करें।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Join Our Whatsapp Group