50 साल की उम्र में मां बनना संभव!

अगर आप दोबारा मां बनना चाहती हैं या फिर पहली बार ही बच्चे को जन्म देना चाहती हैं लेकिन आपकी उम्र 50 साल के आसपास है तो मायूस होने की जरूरत नहीं क्योंकि अब आप 50 साल की उम्र में भी मातृत्व का सुख हासिल कर सकती हैं। 50 साल महिलाओं के लिए एक ऐसी उम्र है जब ज्यादातर महिलाओं का मेनॉपॉज शुरू हो जाता है और ऐसे में मां बनना नामुमकिन समझा जाता है लेकिन अब बेहतर टेक्नॉलजी की मदद से इस उम्र में भी सफलतापूर्वक बच्चे को जन्म दिया जा सकता है।

बड़ी उम्र में मां बनने पर रिस्क
दिल्ली के फॉर्टिस लाफेम की ऑब्स्टेट्रिक्स और गाइनैकॉलजी की सीनियर कंसल्टेंट डॉ कुसुम साहनी कहती हैं, अगर आप 30 साल की उम्र के आसपास बच्चे को जन्म देने की प्लानिंग करती हैं तो प्रेग्नेंसी की संभावना अधिक होती है। हालांकि बड़ी संख्या में महिलाएं अब बड़ी उम्र में भी प्रेग्नेंट हो रही हैं। 40 या 50 साल की उम्र में मां बनना मुश्किल जरूर है लेकिन नामुमकिन नहीं। हालांकि डॉ साहनी कहती हैं कि बड़ी उम्र में मां बनने की अपनी पाबंदियां हैं। बड़ी उम्र की महिलाओं में प्रेग्नेंसी के दौरान स्वास्थ्य से जुड़े कई रिस्क शामिल होते हैं। उदाहण के लिए- जेस्टेशनल डायबीटीज, हाइपरटेंशन, होने वाले बच्चे में डाउन्स सिंड्रोम, समय से पहले डिलिवरी और स्टिल बर्थ जैसी समस्याएं शामिल हैं।

देर से मां बनना बच्चे के लिए अच्छा
हालांकि अब टेक्नॉलजी और मेडिकल साइंस ने इतनी तरक्की कर ली है कि बढ़ती उम्र में भी मां बनने का सपना सच हो सकता है। 40 साल की उम्र में 3 तरीके से प्रेग्नेंट हो सकती हैं और इन तीनों ही तरीकों के अपने-अपने लीमिटेशन्स और सक्सेस रेट है….
– प्राकृतिक रूप से गर्भधारण
– IVF तकनीक में खुद के एग्स का इस्तेमाल
– IVF तकनीक में डोनर के एग्स का इस्तेमाल

उम्र पर निर्भर करती है फर्टिलिटी
इसमें कोई शक नहीं कि फर्टिलिटी यानी बच्चा पैदा करने की क्षमता उम्र पर निर्भर करती है। महिला की उम्र जितनी अधिक होगी उसके द्वारा प्राकृतिक रूप से और जल्दी गर्भधारण करने की संभावना उतनी ही घटती जाएगी। आज की हेल्थ-कॉन्शस महिलाएं खुद को जवां दिखाने के लिए काफी पैसा खर्च करती हैं लेकिन हकीकत तब सामने आती है जब वे 30 साल की उम्र के बाद प्रेग्नेंट होने की कोशिश करती हैं। जैसे-जैसे महिला की उम्र बढ़ती जाती है उसके शरीर में मौजूद हेल्दी एग्स की संख्या घटती जाती है और यही वजह है कि उसके प्रेग्नेंट होने की संभावना भी कम होती जाती है।

डोनर के एग्स से IVF
50 साल की उम्र में जब ज्यादातर महिलाओं का मेनॉपॉज शुरू हो चुका होता है उस वक्त मातृत्व को हासिल करना एक कठिन कार्य है। ऐसे में अपने ही एग्स के जरिए प्रेग्नेंट होने की बजाए किसी डोनर के यंग और फर्टाइल एग्स का इस्तेमाल कर 50 साल की उम्र में भी महिलाएं सफलतापूर्वक मां बन सकती हैं। सबसे अहम बात यह है कि महिला को पूरी तरह से स्वस्थ होना चाहिए ताकि प्रेग्नेंसी से जुड़े रिस्क को कम किया जा सके और स्वस्थ बच्चे का जन्म हो सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button