पसीना बहने के फायदे और नुकसान

शरीर में  छोटी- छोटी बूंदों के जरिए पसीना त्वचा पर आता है।  इसमें अमोनिया, यूरिया, नमक, और चीनी सहित कई और तत्व मौजूद होते हैं। बॉडी का टेम्परेचर नॉर्मल से ज्यादा हो जाता है तो हमारे शरीर की ग्रंथियां तापमान को कंट्रोल करने के लिए एक्टिव हो जाती हैं।

गर्मी अपना असर दिखा रही है। मध्य अप्रैल में तेज धूप का सामना करना मुश्किल हुआ जा रहा है। अभी तो पूर मई और मध्य जून तक ये स्थिति बनी रहेगी । इस मौसम में तेज धूप में निकलना मतलब पसीने से तरबतर हो जाना है। सबसे ज्यादा मुश्किल पैदल या दोपहिया, तिपहिया वाहन में यात्रा करने वालों को होती है। वहीं वर्कआउट करते समय भी थोड़ी सी देर में हाल बेहाल हो जाता है। अब सवाल ये उठता है कि ये पसीना आता क्यों है, इससे फायदा है या नुकसान,

पसीना आने के कारण  
पसीना आने के कई कारण होते हैं, जब आप वर्कआउट कर रहे होते हैं तो पूरी टीशर्ट और लोवर पसीने में भीग जाता है। ये वाला पसीना शरीर के लिए बहुत फायेदमंद होता है। सच तो यह है कि पसीना बहाने के लिए ही आदमी जिम में या दूसरे फिटनेस सेंटर में मोटी फीस चुकाता है। वर्कआउट करते समय पसीना​ निकलना कंपलसरी  हो जाता है, दरअसल व्यायाम करते समय बॉडी टेम्परेचर बढ़ जाता है, इससे हद्य की गति भी तेज हो जाती हैं। इस स्थिति में पसीना ही हमारे शरीर में टेम्परेचर को कंट्रोल करता है, अन्यथा हम मूर्छित हो सकते हैं।

बहुत उपयोगी है पसीना
शरीर में  छोटी- छोटी बूंदों के जरिए पसीना त्वचा पर आता है।  इसमें अमोनिया, यूरिया, नमक, और चीनी सहित कई और तत्व मौजूद होते हैं।  बॉडी का टेम्परेचर नॉर्मल से ज्यादा हो जाता है तो हमारे शरीर की ग्रंथियां तापमान को कंट्रोल करने के लिए एक्टिव हो जाती हैं। इसके बाद ये ग्रंथिया बॉडी से पानी को सोखकर स्किन की उपरी सतह तक पहुंचा देती हैं। त्वचा की बाहरी सतह पर मौजूद यही पसीना हमें लू से भी बचाता है। ध्यान रहे कि ज्यादा पसीना आए तो बीच-बीच में पानी या तरल पेय पदार्थ लेते रहें, इससे शरीर डिहाइड्रेशन का शिकार नहीं होगा।  

सामान्य हालातों में आया पसीना देता है संकेत
पसीना होता तो फायदेमंद ही है, लेकिन वर्कआउट किए बिना, या फिर सामान्य हालातों में अचानक से शरीर में आने वाला पसीना नुकसानदायक होता है। ये हार्टअटैक की तरफ इशारा करता है। तेजी से शरीर में पसीना आना, सीने में तेज दर्द उठना, इसके साथ ही मसल्स में ऐंठन होना, ये हार्ट अटैक के संकेत होते हैं। ऐसी किसी भी स्थिति में जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।  

पसीना की दुर्गंध से ऐसे निपटें
यूं तो बड़ी मेहनत के बाद पसीना निकलता है, लेकिन कई लोगों का पसीना इतना दुर्गंध करता है कि ऐसे लोगों के पास बैठना मुश्किल हो जाता है। पसीने की गंध से निपटने के कई सारे उपाय हैं । डियोडेरेंट, परफ्यूम, टेल्कम पावडर के अलावा घरेलू उपाय के जरिएपसीने की दुर्गंध से मुक्ति मिल सकती है। पसीना आए  इसके पहले ही इसकी गंध से निपटना का इंतजाम किया जा सकता है। इसके लिए नहाने के पानी में थोड़ी सी फिटकरी और पुदीने की घोंटी हुई पत्तियों को डाल लें, फिर इसी पानी से नहाएं, आपको दिनबर ठंडक का अहसासा भी होगा और पसीना आएगा भी तो दुर्गंध नहीं आएगी। नीम की पत्तियों वाले पानी से नहाने पर भी कुछ ऐशा ही रिजल्ट मिलता है।

Related Articles

Back to top button