Apple के नए आईफोन पर भारी पड़ेगा ‌1 लाख का प्राइस टैग!

ऐपल ने नए आईफोन लॉन्च तो किए हैं, लेकिन इनके दम पर उसे भारत में अपना मार्केट शेयर बढ़ाने में शायद मदद नहीं मिल सकेगी। रिटेलरों को डर है कि शुरुआती उत्साह घटने के बाद एक लाख रुपये का प्राइस टैग का सेल्स पर विपरीत प्रभाव पड़ सकता है। उनका कहना है कि सैमसंग और वनप्लस के एंड्रॉयड फ्लैगशिप फोन ज्यादा अफोर्डेबल हैं।

एनालिस्ट्स का अनुमान है कि कैलिफोर्निया बेस्ड ऐपल की भारत में आने वाली सालाना आईफोन शिपमेंट्स में पहली बार गिरावट आ सकती है। हॉन्गकॉन्ग बेस्ड काउंटरप्वाइंट टेक्नोलॉजी मार्केट रिसर्च के अनुसार, 2018 में ऐपल भारत में लगभग 24 लाख आईफोन ला सकती है। 2017 में वह यहां 32 लाख यूनिट्स ले आई थी।

नए आईफोन XS और आईफोन XS मैक्स की बिक्री 28 सितंबर को भारत में शुरू होगी। इंडस्ट्री एग्जिक्युटिव्स ने कहा कि डॉलर के मुकाबले रुपये में कमजोरी और 20 प्रतिशत इंपोर्ट ड्यूटी के असर को मिलाकर इनके दाम भारत में रिकॉर्ड लेवल पर होंगे। आईफोन XR को 'अफोर्डेबल फ्लैगशिप' कहा जा रहा है। इसकी कीमेत 76900 रुपये से शुरू होगी। यह दिवाली से करीब दो हफ्ता पहले 26 अक्टूबर से अवलेबल होगा।

एग्जिक्यूटिव्स के मुताबिक, भारत में कंपनी के डिस्ट्रीब्यूटर्स ने रिटेलरों को बताया है कि ऐपल पहली बार लॉन्च डेट से ही कुछ क्रेडिट कार्ड्स पर कैश बैक और ईजी ईएमआई जैसी 'अफोर्डेबल स्कीम्स' ऑफर करेगी। इससे पहले ऐपल अपने आईफोन की लॉन्चिंग के कुछ हफ्तों बाद ऐसी स्कीम्स ऑफर करती थी।

एक प्रमुख रिटेल चेन के सीईओ ने कहा, 'चाहत का फैक्टर होने के बावजूद एक लाख रुपये से ज्यादा की प्राइसिंग ने इन आईफोन को काफी कंज्यूमर्स के लिए अनअफोर्डेबल बना दिया है। इस बार स्टार्टिंग प्राइस इन फ्लैगशिप्स के लिए करीब 13 प्रतिशत ज्यादा है, जबकि अफोर्डेबल फ्लैगशिप के लिए यह 20 प्रतिशत ज्यादा है। तो मामला काफी मुश्किल होने जा रहा है।'

सिंगापुर बेस्ड रिसर्चर कैनालिस के मैनेजर ऋषभ दोशी के अनुसार, ऐपल के लिए जुलाई-सितंबर और अक्टूबर-दिसंबर तिमाहियां भारत में खराब रह सकती हैं। उन्होंने कहा, 'ऐपल के नए आईफोन अमीरों के हाथ में जाएंगे, जिन्हें दाम की चिंता शायद ही होती हो, लेकिन शिपमेंट वॉल्यूम में एनुअल ग्रोथ की गुंजाइश कम है।'

काउंटरप्वाइंट के एसोसिएट डायरेक्टर तरुण पाठक ने कहा कि प्राइसिंग के चलते भारत में आईफोन खरीदना बहुत महंगा हो सकता है। उन्होंने कहा, 'भारत में असेंबिलिंग न करने पर लगने वाली 20 प्रतिशत कस्टम ड्यूटी के कारण आईफोन महंगा हो जाएगा। इसके मुकाबले देखें तो सैमसंग के नोट 9 की ग्लोबल प्राइस आईफोन XS जैसी है, लेकिन चूंकि पहले वाले को भारत में असेंबल किया जाता है, लिहाजा उसे 32,000 रुपये में यहां लॉन्च किया जा सका।'

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Join Our Whatsapp Group