बीबी ग्लो ट्रीटमेंट, जो इंस्टेंट ग्लो देने का काम करता है

ब्यूटी ट्रीटमेंट को लेकर लोगों के बीच काफी क्रेज बढ़ गया है। आज कल तरह-तरह के ब्यूटी ट्रीटमेंट उपलब्ध हैं, जिसे लोग अपनी जरूरत के अनुसार करवाते रहते हैं। डेड स्किन हो या फिर टैनिंग हर तरह की स्किन प्रॉब्लम से बचने के लिए लोग इन ब्यूटी ट्रीटमेंट पर अच्छा खासा पैसा खर्च करते हैं। बता दें कि ब्यूटी फील्ड में आए दिन ऐसे कई ट्रीटमेंट सुनने और देखने को मिलते हैं। इसी तरह एक ट्रीटमेंट महिलाओं के बीच काफी पॉपुलर हो रहा है, जो इंस्टेंट ग्लो देने का काम करता है।

यह बिल्कुल फाउंडेशन की तरह होता है, जिन महिलाओं को रेडिएंट स्किन की चाहत होती है वो इस ब्यूटी ट्रीटमेंट का सहारा लेती हैं। एक्सपर्ट के अनुसार, बीबी ग्लो ट्रीटमेंट में सेमी फाउंडेशन लुक चेहरे पर देखने को मिलता है। यह दरअसल, कम इनवेसिव और नॉन सर्जिकल प्रोसीजर होता है। इसमें कई सारे प्रोसेस होते हैं, जिसमें डीप क्लीन, एक्सफोलिएशन आदि शामिल हैं।

खैर बीबी ग्लो ट्रीटमेंट के क्या फायदे हैं, इस पर हम बात नहीं करेंगे बल्कि आज आपको इससे होने वाले नुकसान के बारे में बताएंगे। हाल ही में डर्मेटोलॉजिस्ट के जरिए इस ट्रीटमेंट को लेकर खास जानकारी शेयर की है। उन्होंने बताया कि भले ही बीबी ग्लो ट्रीटमेंट लोगों के बीच पॉपुलर हो रहा है, लेकिन यह आपकी त्वचा पर नुकसान पहुंचा सकता है। इससे अच्छा खासा चेहरा खराब हो सकता है।

​क्या पूरी तरह से सेफ है बीबी ग्लो ट्रीटमेंट
बीबी ग्लो ट्रीटमेंट करवाना सही है या नहीं, इस बारे में पूरी जानकारी लेनी चाहिए। एक्सपर्ट के अनुसार, यह सेफ ट्रीटमेंट नहीं है और इसके कई सारे साइड इफेक्ट भी हैं। इससे त्वचा रूखी, चेहरे पर रेडनेस, एलर्जी, सूजन, पिगमेंटेशन, दाग धब्बे आदि देखने को मिल सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि चेहरे पर माइक्रोनीडलिंग के जरिए विटामिन और न्यूट्रिशन ड्राइव किया जा सकता है और यह अच्छा भी है, लेकिन नॉन डिग्रेडेबल जैसे मेकअप को पिगमेंट करना गलत है। इसके अलावा माइक्रोनीडलिंग को अनुभवी और बेहतर टेक्नीशियन द्वारा चलाया जाना चाहिए वरना ये पिगमेंटेशन या फिर दाग-धब्बों का कारण बन सकता है।

​इससे डैमेज हो सकती है आपकी स्किन
इस ट्रीटमेंट में टेक्नीशियन द्वारा माइक्रोनीडलिंग मशीन को चेहरे पर गोल-गोल घुमाया जाता है। हालांकि, आपको समझना होगा कि ऐसा कोई तरीका नहीं है, आपकी स्किन टिंटेड फाउंडेशन को अब्सॉर्ब भी नहीं करती है। इससे अनइवेन या फिर स्किन पैची हो सकती है। इसके साथ ही सेमी परमानेंट मेकअप एक गंभीर विषय है। इसके जरिए आप अपनी त्वचा को खतरे में डाल रहे हैं तो इससे स्किन डैमेज हो सकती है। सिर्फ एक हफ्ते के लिए चमकदार त्वचा पाने की चाहत के लिए ये करना सही नहीं है।

​गोरी नहीं हेल्दी त्वचा की रखें चाहत
एक्सपर्ट के अनुसार, अगर आप स्किन को हेल्दी बनाने के लिए काम करें, तो वो अपने आप ग्लो करने लगेगी। इससे आपकी त्वचा दमकती और चमकती नजर आएगी। आप और आपके आसपास के सभी लोग आपकी त्वचा को पसंद करेंगे। वहीं त्वचा को सिर्फ गोरा बनाने की चाहत नहीं होनी चाहिए। यह हेल्दी तरीका नहीं और स्किन टोन को बदलना मुमकिन नहीं है, तो ऐसी कोशिश करना बंद करें।

​हेल्दी स्किन के लिए माइक्रोनीडलिंग प्रोसेस
हेल्दी स्किन के लिए अलग-अलग तरीके से इसे बूस्ट किया जा सकता है। आप चाहें तो त्वचा पर माइक्रोनीडलिंग ड्राइव कर सकते हैं, लेकिन सिर्फ विटामिन और न्यूट्रिशन के लिए। आपकी त्वचा को क्या जरूरत है और क्या नहीं, इसके लिए पहले डिस्कस करना जरूरी है। इससे बेहतर फायदा देखने को मिल सकता है।

Related Articles

Back to top button