वजन कम करने के लिए रात का खाना खाने का सबसे अच्छा समय

वजन घटाना आज के समय में बहुत जरूरी हो गया है। हेल्दी वेट न केवल आपको शारीरिक बल्कि मानसिक तौर पर भी फिट रखता है। आमतौर पर वजन घटाने के लिए लोग सबसे पहले आहार का चुनाव करते हैं, लेकिन इसके साथ भोजन का समय भी उतना ही मायने रखता है। दरअसल, कई लोगों को रात में देर से खाना खाने की आदत होती है। लेकिन अगर देर रात खाना खाया जाए, तो मुमकिन है कि आपका वजन बढ़ जाए। बता दें कि वजन बढ़ाने और घटाने के लिए केवल यह मायने नहीं रखता कि आप कितनी कैलेरी ले रहे हैं, बल्कि यह मायने रखता है कि आप किस समय कैलोरी ले रहे हैं।

देर रात को खाना खाने से मेटाबॉलिज्म स्लो हो जाता है, जिसके कारण कैलेारी बर्न नहीं हो पाती और नतीजतन वजन या बैली फैट बढ़ जाता है। इसके अलावा वजन को नियंत्रण में रखने वाले लोग अक्सर रात का खाना यानी डिनर स्किप कर देते हैं और फिर अकेले दूध या कुछ हल्का खाकर ही पेट भर लेते हैं। ऐसे में डाइट गुरू और लेखक डॉ. माइकल मोस्ले (Dr Michael Mosley) ने रात का खाना खाने का आदर्श समय बताया है। उनके अनुसार, डिनर के समय का ध्यान रखना उन लोगों के लिए बहुत जरूरी है, जो हरदम शेप में रहना चाहते हैं।

​रात 8 बजे तक खा लें Dinner

डॉ. मोस्ले के अनुसार, वजन घटाने की कोशिश कर रहे लोगों को रात 8 बजे तक खाना खा लेना चाहिए और इसके बीच कोई भी कैलोरी लेने से बचना चाहिए। डॉ. मोस्ले कहते हैं कि सो जाने के बाद कोई भी कैलोरी लेने से बचना जरूरी है। क्योंकि फिर यह आपके सिस्टम में ज्यादा समय तक रहती है। रात के समय लोगों को इंस्टेंट फूड प्रोडक्ट्स जैसे नूडल्स, पिज्जा, चिप्स या बिस्कुट खाने की इच्छा होना आम है। इससे रातों-रात कैलोरी का सेवन ज्यादा हो जाता है, जो वजन बढ़ने का म़ुख्य कारण है।

​फैट और चीनी से पाचन प्रक्रिया हो जाती है धीमी

देर रात में लिया गया फैट और चीनी सिस्टम में काफी देर तक बना रहता है। ऐसा इसलिए क्योंकि एक निश्चित समय के बाद शरीर काम करना कम कर देता है और पाचन प्रक्रिया भी धीमी हो जाती है। कुछ अध्ययनों का कहना है कि यह प्राकृतिक शरीर की घड़ी में भी बाधा पैदा कर सकता है। सर्केडियम रिदम 24 घंटे के चक्र को दर्शाती है, जो शरीर को बताती है कि कब सोना है और कब आपके इम्यून सेल्स सबसे ज्यादा एक्टिव हैं।

​रात में जल्दी खाना खाने से शरीर पर क्या प्रभाव पड़ता है

2017 के एक अध्ययन के अनुसार, ओवरवेट वाले लोगों ने सोने से कुछ समय पहले ज्यादा कैलोरी का सेवन किया। इस समय मेलाटोनिन का लेवल हाई रहता है।बता दें कि मेलाटोनिन एक हार्मोन है, जो शाम को नींद का कारण बनता है। 250 अध्ययनों के एक अन्य विश्लेषण में विशेषज्ञों ने देखा कि लोगों ने क्या खाया और पेट की परत और भूख पर इसका क्या प्रभाव पड़ा।
​सुबह के समय भोजन करें

विश्लेषण में विशेषज्ञों ने निष्कर्ष निकाला कि दोपहर 4 बजे से पहले अंतिम भोजन का सेवन एक्स्ट्रा बैली फैट को कम करने का शानदार तरीका है। विशेषज्ञ सुबह के समय भोजन करने की सलाह देते हैं। क्योंकि इस समय सतर्कता, पाचन और ब्लड शुगर सबकुछ नियंत्रण में रहता है।

Related Articles

Back to top button