कुछ घरेलू उपचार की मदद से बवासीर का कारगर इलाज

बवासीर एक गंभीर समस्या है जिससे आजकल बहुत से लोग पीड़ित रहते हैं। यह रोग खराब खान-पान और सुस्त जीवनशैली से जुड़ा है। कई बार बवासीर खुद ठीक हो जाती है लेकिन कई बार दवाओं और यहां तक कि सर्जरी की जरूरत भी पड़ सकती है। एक्सपर्ट्स मानते हैं कि इसे ठीक करने के लिए आप कुछ घरेलू उपचार भी आजमा सकते हैं।

कोलोरेक्टल सर्जन जेरेमी लिपमैन के अनुसार, कई बार बवासीर होने पर दर्द नहीं होता है। अगर आपको अपने गुदा के आसपास दर्द या किसी भी तरह का बदलाव जैसे खून आना महसूस हो रहा है, तो आपको तुरंत डॉक्टर से मिलना चाहिए ताकि यह पता लगाया जा सकते कि कुछ गंभीर तो नहीं हो रहा है। कई बार गुदा के आसपास दिखने वाले लक्षण बवासीर के न होकर अंदरूनी रोगों से जुड़े हो सकते हैं।

दरअसल बवासीर होने पर गुदा के बाहर या अंदर की तरफ मस्से हो सकते हैं जिनमें तेज दर्द और खून आ सकता है। इस रोग में आपका चलना-फिरना यहां तक कि उठना-बैठना तक मुश्किल हो सकता है। बवासीर के इलाज के लिए कुछ घरेलू उपचार आपकी मदद कर सकते हैं।

सिट्ज़ बाथ
विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि दर्दनाक बवासीर वाले लोगों को 15 मिनट के लिए गर्म पानी में बैठना चाहिए। आप ऐसा दिन में कई बार कर सकते हैं, विशेष रूप से मल त्याग के बाद। आप इस मेडिकल स्टोर से ले सकते हैं या फिर घर में किसी टब का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप बस इसे गर्म पानी से भरें और बैठ जाएं।

इसबगोल की भूसी
इसबगोल भूसी एक ऐसी चीज है, जो आपके फाइबर सेवन को बढ़ाने में मदद करता है और मल को नरम करता है। सावधान रहें कि फाइबर को बहुत ज्यादा न बढ़ाएं, क्योंकि इससे गैस या पेट में ऐंठन भी हो सकती है। मल को नरम करने और मल त्याग को आसान बनाने के लिए इसका उपयोग करें। जब आपका मल नरम होता है और आसानी से निकल जाता है, तो आपके बवासीर के ठीक होने की संभावना बढ़ जाती है। इसके खूब पानी पिएं।

एलोवेरा
एलोवेरा में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं, जो बवासीर की सूजन को शांत करने में मदद कर सकते हैं। हालांकि बवासीर से राहत पर इसके उपयोग के लिए विशेष रूप से शोध उपलब्ध नहीं है, लेकिन इससे त्वचा की सूजन संबंधी कई लाभ हैं। आप इसके जेल को प्रभावित हिस्से पर लगा सकते हैं।

आइस पैक
बवासीर में आइस पैक लगाना फायदेमंद हो सकता है। इससे दर्द, जलन और सूजन को कम करने में मदद मिल सकती है। बर्फ को सीधे प्रभावित क्षेत्र पर नहीं रखना चाहिए क्योंकि इससे टिश्यू डैमेज हो सकते हैं। बर्फ को तौलिये में लपेटकर लगाना चाहिए। आइस पैक को 15 मिनट के लिए प्रभावित हिस्से पर लगाएं।

बवासीर होने पर क्या खाएं
फाइबर वाली डाइट लेने से मल को नरम करने में मदद मिलती है। इससे कब्ज को रोकने, शौच करते समय दर्द, जलन और परेशानी को कम करने में मदद मिल सकती है। फाइबर पाचन को दुरुस्त करने का भी बेहतर तरीका है। फल और सब्जियां फाइबर से भरपूर होती हैं।

Related Articles

Back to top button