ऊर्जा मंत्री ने जौरासी मंदिर में स्वयं स्वच्छता का कार्य कर दिया स्वच्छता का संदेश

जौरासी

प्रदेश की खुशहाली एवं आमजनों की समस्याओं के समाधान के पुनीत उद्देश्य को लेकर ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर चार दिवसीय पदयात्रा पर हैं। तोमर ने पदयात्रा के दूसरे दिन सुबह ग्वालियर जिले के जौरासी हनुमान मंदिर पर पूर्जा-अर्चना की और सुंदरकाण्ड का पाठ किया। साथ ही सभी की खुशहाली के लिये कामना की।

तोमर ने जौरासी मंदिर परिसर में स्वयं स्वच्छता का कार्य कर लोगों को स्वच्छता का संदेश भी दिया। उन्होंने उपस्थित जनसमुदाय से आग्रह किया कि वे स्वयं भी स्वच्छता रखें और लोगों को स्वच्छता के लिये प्रेरित करें। ऊर्जा मंत्री तोमर ने कहा है कि हमें न स्वयं अपने घर की बल्कि अपने मोहल्ले और शहर की स्वच्छता में भी अपनी भूमिका का निर्वहन करना होगा। स्वच्छता का कार्य किसी संस्था या व्यक्ति का नहीं, हम सबका है। स्वच्छता से ही अनेक प्रकार की बीमारियों से हमें निजात मिलती है।

ऊर्जा मंत्री ने मंदिर के समीप स्थित गार्डन में लोगों की समस्याएँ सुनीं और उनके निराकरण के निर्देश दिए। विद्युत विभाग की समस्याओं के निराकरण के लिये उन्होंने यात्रा में चल रहे विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया है कि हर समस्या को पंजीबद्ध किया जाए और उसका निराकरण भी सुनिश्चित किया जाए। जिन समस्याओं का निराकरण मौके पर नहीं हो सकता है, उनमें समय-सीमा निर्धारित कर समस्या का निराकरण करें।

मध्यप्रदेश लघु उद्योग निगम की अध्यक्ष श्रीमती इमरती देवी ने जौरासी मंदिर के समीप आयोजित जन-समस्या निवारण शिविर में कहा कि ऊर्जा मंत्री तोमर द्वारा आमजनों की समस्याओं के निराकरण और प्रदेश की खुशहाली के लिये जो पदयात्रा की जा रही है, उसकी जितनी प्रशंसा की जाए कम है। उन्होंने कहा कि आमजनों को शासन की योजनाओं का समय पर लाभ मिले, यह सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। जन-प्रतिनिधियों का भी कर्तव्य है कि शासन की योजनाओं का लाभ जरूरतमंदों को समय पर दिलवाएँ। इस यात्रा से आमजनों की समस्याओं का त्वरित निराकरण होगा।

ऊर्जा मंत्री तोमर ने जमीन पर बैठकर सुनी समस्या

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर पदयात्रा के दौरान जौरासी गाँव पहुँचे और उनके साथ जमीन पर बैठकर उनकी समस्यायें सुनीं। ग्रामीणों की बिजली से संबंधित समस्याओं के समाधान के लिये उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि विद्युत से संबंधित जो भी समस्यायें मिली हैं उनका निराकरण अधिकतम पाँच दिन में किया जाए। समस्याओं के निराकरण की जानकारी संबंधित व्यक्ति को भी दी जाए। इस मौके पर जन-प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में यात्रा में शामिल सहयोगी उपस्थित थे।

ऊर्जा मंत्री तोमर ने यह भी निर्देशित किया है कि गर्मी के मौसम में लोगों को बिजली आपूर्ति में परेशानी नहीं हो। साथ ही किसी भी कारण से अगर विद्युत आपूर्ति अवरूद्ध होती है, तो उसे शीघ्र ठीक करवायें। पदयात्रा 7 अप्रैल को माँ पीताम्बरा पीठ दतिया में समाप्त होगी।

 

Related Articles

Back to top button