Daughters Day 2023 : बिटिया रानी को समर्पित दो कविताएं

आशी प्रतिभा दुबे (स्वतंत्र लेखिका), उज्जवल प्रदेश, ग्वालियर

कविता – 1 “बिटिया रानी”

छंदों में अलंकार,
कविताओं में संस्कार
खूबसूरत कलाकृति
मोहब्बत में मुमताज
महकती फूलो की सांझ
सुबह की चहचहाट,
घर की मुस्कुराहट ,
आनंद ही आनंद
माता की छवि
पिता का प्यार …….
बिटिया से ही सब संसार ।।

कविता – 2 “प्यारी बेटियां”

बिटिया से हो रहा जीवन में ,
नित खुशियों का देखो संचार। ।
हस्ती खेलती बड़ी हुई ,
हुआ जीवन का विस्तार।।

घर में प्रेम बरसे बिटिया से ,
पूर्ण रहे सदा सभी परिवार
हर दिन दिवाली ,होली घर में
नित नई रंगोली जैसी बाहर ।।

हस्ती और हसाती सभी को ,
महकता इनसे पूरा परिवार
चहचहाट चिड़िया जैसी प्यारी
उड़ जाती एक दिन ससुराल।।

पली-बढ़ी मां बाबा के घर में
मायके का करती है नाम
अपने संस्कारों से रोशन करें
बिटिया रानी दुनिया और जहान।।

Show More

Related Articles

Back to top button
Join Our Whatsapp Group