यह पराठा बनाये , स्वाद और पोषण से है भरपूर

गर्मा-गर्म, कुरकुरा, मक्खन या तेल में डीप फ्राई किया हुआ पराठा किसे अच्छा नहीं लगता। ऐसे पराठे का नाम सुनकर ही मुंह में पानी आ जाता है। ये ऑयली डिश इंडियन क्यूजिन का मुख्य हिस्सा है। नार्थ इंडिया में ज्यादातर लोग नाश्ते के रूप में पराठा ही खाना पसंद करते हैं, क्योंकि यह हैवी होता है, जिससे काफी देर तक भूख नहीं लगती। सबसे अच्छी बात यह है कि आप पराठा दिन के किसी भी समय खा सकते हैं। इसका सेवन सुबह नाश्ते से लेकर रात के खाने तक अचार , सब्जी, रायता, करी के साथ किया जा सकता है।

वैसे आमतौर पर पराठों को रोटी के मुकाबले अनहेल्दी माना जाता है और इसे रोजाना खाने से स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं। क्योंकि लोग इनमें स्टफिंग भर देते हैं साथ ही इसे पकाने के लिए जरूरत से ज्यादा घी और तेल का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन अगर इसे सही तरीके से बनाया जाए, तो यह एक हेल्दी डिश साबित हो सकता है। अगर आप पराठों के शौकीन हैं, तो आप अपने आहार में पराठों की अलग-अलग वैरायटी शामिल कर सकते हैं।

​चुकंदर का पराठा

इस तरह के पराठे का नाम हो सकता है आपने पहली बार सुना हो, लेकिन यकीन मानिए यह पराठा काफी हेल्दी और टेस्टी होता है। इसका आटा बनाने के लिए चुकंदर की प्यूरी को आटे के साथ मिलाया जाता है। यह एंटीऑक्सीडेंट, फाइबर, फोलेट, मैंगनीज, आयरन और विटामिन सी का बेहतरीन स्त्रोत है। सादा तेल और घी का पराठा खाने से न केवल ब्लड फ्लो और लो बीपी में सुधार होता है, बल्कि एक्सरसाइज परफॉर्मेंस में भी वृद्धि होती है।

पराठे बनाने के ये हैं 6 हेल्‍दी तरीके, जितना मन उतना खाओ; सेहत पर नहीं पड़ेंगे भारी

​कीमा पराठा-

कीमा पराठा एक फ्लैटब्रेड है, जहां स्पाइसी और टेस्टी कीमा पूरे गेहूं के आटे में भर दिया जाता है। आप चाहें, तो रात के बचे हुए कीमा की स्टफिंग भी पराठे में कर सकते हैं। इसके सेवन से आपको बहुत अच्छी मात्रा में प्रोटीन मिलेगा।

​मशरूम पराठा-

मशरूम अपने आप में बहुत पौष्टिक होता है। अगर आप मांस के सेवन से बचना चाहते हैं, तो मशरूम का पराठा बहुत अच्छा विकल्प है। आप अपनी मीट की क्रेविंग को इस पराठे की मदद से संतुष्ट कर सकते हैं। एंटीऑक्सीडेंट और प्रोटीन का बेहतरीन स्त्रोत होने के नाते यह एक बहुत हेल्दी डिश है।

टाइप-2 डायबिटीज कंट्रोल करे ​मेथी का पराठा

मेथी आमतौर पर भारत में इस्तेमाल की जाने वाली जड़ी-बूटी है। इसका पराठा सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। इस पौधे के बीजों से तैयार पराठे में एंटी इंफ्लेमेट्री गुण होते हैं और यह आपके पाचन स्वास्थ्य में सुधार कर सकता है। इतना ही नहीं मेथी की पत्तियां ग्लूकोज मेटाबॉलिज्म को नियंत्रित कर सकती हैं और टाइप 2 डायबिटीज में मददगार भी हैं। कोलेस्ट्रॉल लेवल , हार्ट हेल्थ और ब्लड लिपिड को भी नियंत्रित करने के लिए आप नाश्ते या भोजन में मेथी का पराठा खा कते हैं।

​दाल का पराठा-

दाल हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होती है। जिन लोगों को दाल खाना बिल्कुल पसंद नहीं हैं या सिर्फ एक ही तरह की दाल खाते हैं, उनके लिए दाल का पराठा अच्छा विकल्प है। खासतौर से मूंग दाल पराठा अपने दिन की शुरूआत करने का सबसे अच्छा तरीका है। यह पराठा फाइबर, प्रोटीन और अन्य जरूरी पोषक तत्वों का बेहतरीन स्त्रोत है। इसमें मौजूद प्रोटीन वजन घटाने में बहुत मदद करता है।
ब्रेकफास्ट या लंच में आप यहां बताई गई पराठों की कई वैरायटीज को ट्राय कर सकते हैं। इनसे न केवल आपको पोषण मिलेगा बल्कि रोजाना के एक ही स्वाद से हटकर आप कुछ अलग भी टेस्ट कर पाएंगे।

 

Related Articles

Back to top button