स्तन कैंसर के इन लक्षणों को ज्यादातर महिलाएं कर देती हैं नजर अंदाज

कैंसर एक घातक बीमारी है, जो धीरे-धीरे इंसान के शरीर को खोखला कर देती है। खासकर महिलाओं में तेजी से स्तन कैंसर फैलता है। लेकिन ज्यादातर महिलाएं स्तन कैंसर के असामान्य लक्षणों से अनजान हैं। ऐसे में हर साल अक्टूबर के पूरे में महीने में स्तन कैंसर जागरूकता अभियान  चलाया जाता है। जिसका उद्देश्य महिलाओं को स्तन कैंसर के बारे में जागरूक करना है। तो चलिए आज हम आपको बताते हैं, ब्रेस्ट कैंसर के ऐसे शुरुआती लक्षण जिसे ज्यादातर महिलाएं इग्नोर कर देते हैं।

क्या होता है स्तन कैंसर
स्किन कैंसरों में स्तन कैंसर सबसे आम है। स्तन कैंसर पुरुषों और महिलाओं दोनों में हो सकता है, लेकिन यह महिलाओं में अधिक और आम है। जिसमें स्तन में कोशिकाएं नियंत्रण से बाहर हो जाती हैं। स्तन कैंसर विभिन्न प्रकार के होते हैं। एक स्तन तीन मुख्य भागों से बना होता है: लोब्यूल, नलिकाएं और संयोजी ऊतक।  इनमें से किसी भी हिस्से में कैंसर कोशिकाएं बन सकती हैं। हालांकि रिपोर्ट्स के अनुसार अन्य कैंसरों के मुकाबले में स्तन कैंसर के जीवित रहने की दर में वृद्धि हुई है, और इस बीमारी से होने वाली मौतों की संख्या में लगातार गिरावट आ रही है। लेकिन सबसे जरूरी बात है कि इसके लक्षणों को हम पहले से समझे और ऐसा कुछ होने पर तुरंत ट्रीटमेंट लें।

ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण
1. स्तन कैंसर का सबसे आम लक्षण एक नई गांठ या द्रव्यमान (mass) है। (हालाँकि अधिकांश स्तन गांठ कैंसर नहीं होते हैं)। एक दर्द रहित, कठोर द्रव्यमान जिसमें अनियमित किनारे होते हैं, उसमें कैंसर होने की संभावना अधिक होती है, लेकिन स्तन कैंसर नरम, गोल, कोमल या दर्दनाक भी हो सकता है।

2. अगर आपको गांठ महसूस नहीं होती है और यदि आपके स्तन सामान्य रूप से समान आकार के हैं और एक अचानक बड़ा दिखाई देता है, तो आपको इसकी जांच करवानी चाहिए। किसी एक ब्रेस्ट का साइज कम या ज्यादा होना भी चिंता का विषय है।

3. स्तन कैंसर के शुरुआती लक्षणों में त्वचा में खुजली, लाल, स्केल्ड या रूखी हो सकती है। कुछ मामलों में, यह संतरे के छिलके जैसा हो सकता है।

4. कई बार ऐसा होता है कि निप्पल का कुछ हिस्सा अंदर की ओर दबा हुआ लगता है या बगल की ओर खिंचा हुआ लग सकता है। ऐसे में आपको सतर्क रहने और जांच करवाने की जरूरत है।

5. निप्पल में से सफेद पानी जैसा डिस्चार्ज होना है। चिंता का कारण है। कई बार निप्पल में से खून भी आने लगता है।

Related Articles

Back to top button