IMEI नंबर के लिए भारत सरकार की तरफ से नया नियम

नई दिल्ली

भारत सरकार (Indian Govt) की तरफ से नया IMEI नियम लाया गया है। इस नए नियम की मदद से मोबाइल की ब्लैक मार्केटिंग, फर्जी IMEI नंबर और IMEI नंबर से छेड़छाड़ जैसी घटनाओं पर लगाम लगाने में मदद मिलेगी। डिपार्टमेंट ऑफ टेलिकॉम (DoT) के एक गैजेट नोटिफिकेशन में एक नई गाइडलाइन जारी की गई है। इस नई गाइडलाइन के तहत सभी स्मार्टफोन्स के IMEI नंबर को भारत सरकार के एक पोर्टल पर रजिस्टर्ड करना अनिवार्य होगा।

1 जनवरी 2023 से देशभर में प्रभावी होगा नया नियम
मोबाइल IMEI का नया नियम 1 जनवरी 2023 से देशभर में प्रभावी हो जाएगा। इसके बाद भारत में बिकने वाले और टेस्टिंग और रिसर्च के लिए आयात किए जाने वाले स्मार्टफोन के इंटरनेशनल मोबाइल इक्विपमेंट आइडेंटिटी (IMEI) नंबर को इंडियन काउंटरफीटेड डिवाइस रिस्ट्रिक्शन पोर्टल https://icdr.ceir.gov.in पर रजिस्टर करना होगा।

क्या होते हैं IMEI नंबर
IMEI नंबर किसी भी स्मार्टफोन की पहचान होती है। दरअसल फर्जी मोबाइल फोन और फोन चोरी होने कि स्थिति में IMEI नंबर अहम हो जाता है। फोन चोरी होने पर सिम कार्ड बदल दिया जाता है। ऐसे में फोन के IMEI नंबर से चोरी के फोन की पहचान होती है। बता दें कि साल 2020 में एक ऐसा मामला सामने आता था, जिसमें एक ही IMEI नंबर वाले करीब 13,000 ज्यादा मोबाइल फोन की पहचान हुई थी। इसे लेकर काफी विवाद हुआ था। ऐसे में इस तरह की घटनाओं से बचने के लिए ही सरकार नया नियम लेकर आयी है।

ड्यूल सिम के होते हैं दो IMEI नंबर
बता दें कि दुनियाभर में GSM, WCDMA और iDEN मोबाइल फोन के साथ ही सैटेलाइट फोन में IMEI नबंर दिए जाते हैं। इससे चोरी के फोन को ट्रैक करने में मदद मिलती है। सिंगल सिम वाले फोन का एक IMEI नंबर होता है. जबकि ड्यूल सिम वाले फोन के दो IMEI नंबर होते हैं।

Related Articles

Back to top button