खूबसूरत और जवान दिखने का पॉपुलर फार्मूला मॉफर्स 8 टेक्निक

खूबसूरत और जवान दिखना हर किसी की ख्वाहिश होती है, लेकिन कुछ कारणों के चलते हमारी स्किन समय से पहले ही ढीली पड़ती जाती है, जिससे ना सिर्फ स्किन का ग्लो चला जाता है बल्कि वो डल और बेजान दिखने लगती है। देखा जाए तो स्किन से जुड़ी इस समस्या के पीछे टेंशन, पोल्यूशन, अनहेल्दी डाइट के अलावा बढ़ती उम्र का प्रभाव हो सकता है।

अगर आप भी इस तरह की स्किन प्रॉब्लम से सफर कर रहे है, तो परेशान ना हों, क्यूंकि आज के इस एडवांस जमाने में ऐसी टेक्निकस आ गई है, जो ना सिर्फ हमारी स्किन को टाइट बनाती है, बल्कि इन स्किन ट्रीटमेंटस की मदद से आप सॉफ्ट और यंग लुकिंग स्किन पा सकते है। और इन्हीं में से एक है मॉर्फस8 लेजर ट्रीटमेंट, जो इन दिनों सेलेब्स के बीच काफी पॉपुलर है। फेमस टीम रियलिटी शो की स्टार किम कार्देशियन ने भी टमी टाइटनिंग के लिए इस लेजर ट्रीटमेंट की मदद लेने की पुष्टि की है। यहां हम आपको मॉर्फस8 लेजर ट्रीटमेंट की टेक्निक और इससे होने वाले फायदे-नुकसान के बारे में बताने जा रहे है।

क्या है मॉर्फस8 टेक्निक
मॉर्फस8 स्किन टाइटनिंग की एक टेक्निक है जिसमें स्किन पोर्स को कोलाजन के निर्माण के लिए उत्तेजित किया जाता है। इस टेक्निक को करने के लिए रेडियो फ्रीक्वेंसी और माइक्रोनीडलिंग या बहुत छोटी-छोटी सुइयों की मदद ली जाती है। इस तकनीक में स्किन की डीप लेयर और स्किन टिश्यूज पर गहराई तक इस टेक्निक का प्रभाव पहुंचाने की कोशिश की जाती है। इसे करने के बाद स्किन पहले से कई ज्यादा यंग, फ्रेश और पिंकिश नजर आती है। वैसे इस टेक्निक में दो अलग-अलग प्रोसेस से गुजरना होता हैं, जिसमें दोनों तरीकों में अलग-अलग तरह के इक्यूप्मेंट का इस्तेमाल किया जाता है। जैसे चेहरे और गर्दन के लिए मॉर्फस8 इक्यूपमेंट का यूज किया जाता ह। वहीं, शरीर के बड़े हिस्सों जैसे पेट और जांघों के लिए मॉर्फस8 बॉडी की हेल्प ली जाती है।

मॉर्फस8 ट्रीटमेंट में एक सेशन में स्किन के कई लेयर्स तक ट्रीटमेंट का इफेक्ट होता है जिससे ना सिर्फ लोगों का समय बचता है, बल्कि इससे स्किन भी कम समय में काफी बेहतर दिखाई देने लगती है। हालांकि, किसी भी सेशन में लगनेवाला समय इस पर डिपेंड करता है कि शरीर के किस हिस्से पर यह ट्रीटमेंट कराई जा रही है। जैसे अगर आप चेहरे की ट्रीटमेंट कराने की सोच रहे है तो ये मानकर चलिए कि इसमें 40-45 मिनट का समय लग सकता है, जबकि पेट के लिए करीब 20-25 मिनट का समय लग सकता है, जबकि, जांघों के लिए चलने वाला सेशन 40 -45 मिनट का हो सकता है।

मॉर्फस8 से मिलने वाले फायदे
अब चूंकि इस ट्रीटमेंट को सेलिब्रिटीज काफी पसंद कर रहे है, ऐसे में इससे मिलने वाले फायदों का अंदाजा आप खुद लगा सकते है, कि इसे करवाने के बाद कितने अच्छे परिणाम सामने आ सकते हैं। मॉफर्स 8 टेक्निक स्किन पोर्स को टाइट बनाती है और इससे स्किन बेहतर दिखाई देती है। इस ट्रीटमेंट के जरिए स्किन में कोलाजन का प्रोडक्शन ज्यादा होता है जिससे पिम्पल्स और झुर्रियां कम हो सकती है। साथ ही स्ट्रेच मार्क्स को भी इस टेक्निक की मदद से हल्का किया जाता है, इससे स्किन पोर्स टाइट हो जाते है। मॉर्फस8 टेक्निक का एक प्रमुख फायदा ये भी है कि इसमें रिकवरी जल्दी होती है। यानि जहां अन्य सर्जरीज और ट्रीटमेंट्स में घाव भरने में अधिक समय लगता है, वहीं मॉफर्स 8 टेक्निक में घाव बहुत तेजी से भर जाते हैं। जिससे ट्रीटमेंट के बाद होने वाली समस्याएं ना के बराबर रहती है।

Related Articles

Back to top button